.....

अगले 24 घंटे में चक्रवाती तूफान का खतरा मंडराया , IMD का अलर्ट

 मौसम विभाग के अनुसार कार्निकोबार से करीब 170 किमी पश्चिम में शनिवार सुबह 11.30 बजे दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी पर डिप्रेशन बना हुआ है। यह 8 मई (रविवार) तक एक चक्रवाती तूफान में बदल जाएगा। आईएमडी के मुताबिक तूफान 10 मई तक उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा। उसके बाद उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा। वहीं आईएमडी ने चक्रवाती तूफान के मद्देनजर अगले हफ्ते मंगलवार से शुक्रवार के बीच पश्चिम बंगाल के कुछ जिलों में गरज के साथ छीटें पड़ने व भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।


10 मई तक तट पहुंचने की उम्मीद

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि निम्न दाब के क्षेत्र उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में दबाव के बदलने व पूर्वी-मध्य बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान तब्दील हो सकता है। इसके 10 मई (मंगलवार) तक तट पहुंचने की संभावना है। उन्होंने कहा, 'फिलहाल यह कहां दस्तक देगा, कुछ कहा नहीं जा सकता।' महापात्र ने कहा कि हमारा अनुमान है चक्रवाती तूफान के दौरान हवा की गति 80-90 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी।

ओडिशा सरकार का अलर्ट

ओडिशा सरकार ने मौसम के पूर्वानुमान को देखते हुए आपदा मोचन बल और दमकल सेवाओं को तैयार रहने को कहा है। यहां पिछले तीन साल में गर्मियों के मौसम में चक्रवाती तूफान आए थे। 2019 में फानी, 2020 में अम्फान और 2021 में यास तूफान आया था। अग्निशम सेवा के महानिदेशक संतोष कुमार उपाध्याय ने कहा, हमने 30 जिलों के यूनिट को अलर्ट कर दिया है। दक्षिणी जिलों में अधिक असर पड़ सकता है। इसलिए हमने अधिकारियों को सतर्क रहने के लिए कहा है।

दमकल कर्मियों की छुट्टी रद्द

संतोष कुमार उपाध्याय ने कहा कि दमकल कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। समुद्र में गए मछुआरों को जल्द तट पर लौंटने को कहा है। वहीं सलाह दी है कि अंडमान सागर और दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में न जाएं।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment