.....

जहांगीरपुरी हिंसा मामले में 20 आरोपी गिरफ्तार

 उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा मामले में अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि 2 नाबालिगों को भी हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने 5 तलवारों सहित 3 पिस्टल भी बरामद किये हैं। पुलिस ने 14 आरोपियों को जहांगीरपुरी कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने अंसार और असलम को एक दिन के लिए पुलिस रिमांड पर सौंपा, जबकि 12 को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। आपको बता दें कि अंसार इस मामले में नामजद आरोपी और हिंसा का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है। 35 वर्षीय मोहम्मद अंसार जहांगीरपुरी के बी ब्लॉक का रहने वाला है। इससे पहले भी हमले के दो मामलों में उसकी संलिप्तता का पता चला है, जिनमें उसकी गिरफ्तारी हुई थी। इसके साथ ही आर्म्स एक्ट और जुआ अधिनियम के तहत 5 बार मामला दर्ज किया गया था।वहीं असलम को फायरिंग के मामले में गिरफ्तार किया गया है। असलम से पुलिस ने एक पिस्टल भी बरामद की है।



इलाके में तमाम दुकानें बंद हैं और भारी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है। साथ ही पुलिस लगातार पेट्रोलिंग कर रही है। ताजा जानकारी के दिल्ली पुलिस की स्पेशल क्राइम ब्रांच इस मामले की जांच करेगी।

जहांगीरपुरी में हुई हिंसा के मामले में एक नया वीडियो सामने आया है, जिसमें एक शख्स फायरिंग करता हुआ नजर आ रहा है। सामने आए वीडियो में ये शख्स गोली चलाते हुए दिख रहा था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक शख्स की पहचान कर ली गई है और उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

कैसे शुरु हुआ बवाल?

जहांगीरपुरी थाने में तैनात इंस्पेक्टर राजीव रंजन के बयान के अनुसार, एफआईआर में कहा गया है कि शोभायात्रा शांतिपूर्ण तरीके से चल रही थी, शाम 6 बजे जब यह शोभायात्रा सी-ब्लॉक जामा मस्जिद के पास पहुंची तो अंसार नाम का एक शख्स अपने 4-5 अन्य लोगों के साथ वहां पहुंचा और शोभायात्रा में शामिल लोगों से बहस करने लगा। बहस ज्यादा बढ़ने के कारण दोनों पक्षों में पथराव शुरू हो गया। इसके चलते शोभायात्रा में भगदड़ मच गई। इस घटना में 8 पुलिस कर्मियों समेत कुल 9 लोग घायल हुए हैं।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment