.....

धार के बदनावर में दबंगों के विरोध के बाद पुलिस की सुरक्षा में घोड़ी पर सवार होकर निकला दूल्हा

बदनावर-कानवन (धार) । ग्राम खंडीगारा में शुक्रवार रात अनुसूचित जाति वर्ग की बरात के बनोले में दूल्हे को घोड़ी पर बिठाकर गांव में निकाले जाने का कुछ युवकों ने विरोध किया। मामला इतना बढ़ गया कि पुलिस बुलवानी पड़ी। तब कहीं जाकर पुलिस की मौजूदगी में दूल्हे को घोड़ी पर बिठाकर चल समारोह निकाला गया। इस मामले में कानवन पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कुल पांच लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किए हैं।


फरियादी उदयसिंह नानूराम बंजारिया निवासी बैगंदा ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसके लड़के शैलेष का विवाह ग्राम खंडीगारा में केशरसिंह की लड़की से हो रहा था। इसके लिए शुक्रवार रात करीब दस बसे बरात लेकर हम खंडीगारा गेट पर पहुंचे। यहां से दूल्हे को घोड़ी पर बिठाया और बैंडबाजों के साथ बरात का बनोला दुल्हन के घर के लिए रवाना होने वाला था। इसी दौरान कुछ युवक बाइक से आए और कहने लगे कि हमारे गांव में दूल्हा घोड़ी पर बैठकर नहीं जाएगा तथा जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गालीगलौज की। इस बीच घबराकर दूल्हा भी घोड़ी से उतर गया। इधर, लड़की वाले भी युवकों को मनाने पहुंचे, लेकिन गांववालों ने एक नहीं सुनी।

पुलिस पहुंची तो भाग गए युवक - कानवन पुलिस को सूचना देने पर वह मौके पर पहुंची। तब तक युवक रफूचक्कर हो गए थे। इसके बाद दूल्हे को दोबारा से घोड़ी पर बिठाया और चल समारोह गांव में निकाला गया। इस दौरान दूल्हे के आसपास और बरात के आगे और पीछे पुलिस बल के जवान चल रहे थे। गांव में पुलिस के साये में ही बरात का बनोला निकाला गया। देर रात विवाह संपन्न हुआ। उसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की। टीआइ दीपकसिंह चौहान ने बताया कि इस मामले में दिलीपसिंह, कान्हासिंह, गट्टूसिंह, नेपालसिंह व दशरथ सिंह सभी निवासी खंडीगारा के विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया गया है।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment