.....

कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में CM ने कहा अपराधियों के हौसले पस्त करना जरूरी

 भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज कलेक्टर, कमिश्नर, आईजी-एसपी से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात कर रहे हैं। कांफ्रेस में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कानून व्यवस्था, माफिया, महिला अपराध नियंत्रण, भू माफिया के विरुद्ध कार्यवाई की जिलेवार जानकारी ली।  सीएम ने कहा आमजन चैन से सांस ले सके इसके लिए अपराधियों के हौसले पस्त करना जरूरी है और यही हमारा राजधर्म है। सीएम ने कहा सभी को नवरात्रि की शुभकामनाएं। इस पर्व पर हमारा संकल्प और प्रार्थना भी यही है कि जनता को हम सुशासन दे पाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि माफियाओं की कमर तोड़ना जरुरी है। माफिया जो जनता की जिंदगी को कठिन बनाते है या कहूं कि इतना तंग करते है कि आम आदमी कठिनाई महसूस कर रहा है। ऐसे सारे माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही जारी रहेगी। यहीं हमारा राजधर्म है।  

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कलेक्टर-कमिश्नर कांफ्रेस का उद्घााटन करते हुए कहा कि नवरात्रि के पावन पर्व पर हमारा संकल्प और प्रार्थना है कि हम जनता को सुशासन दे पाएं, जनकल्याण की योजनाओं का सफल क्रियान्वयन कर पाएं और आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश  के निर्माण के लक्ष्य को प्राप्त कर पाएं।  उन्होंने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन की जिम्मेदारी फील्ड अफसरों की होती है जिन्हें कलेक्टर और कमिश्नर लीड करते है। माफियाओं के खिलाफ हमारे अधिकारियों ने अच्छा काम किया है, जिसके लिए कलेक्टर और कमिश्नर्स को बधाई। उन्होंने कहा कि कलेक्टर-कमिश्नर कांफ्रेस हमारे काम का मूल्यांकन है। यह हर महीने जरुरी है। उन्होंने कहा कि हमारी यह कोशिश रहेगी कि हम देश में सबसे बेहतर काम करके देश को आगे बढ़ा पाएं।



भूमाफिया के विरुद्ध 1 हजार 791 केस दर्ज, 2243 एकड़ जमीन कराई मुक्त, भोपाल का काम बेहतर
बैठक में बताया गया कि एक जनवरी से 31 माच्र 2022 तक  भूमाफिया के विरुद्ध 1 हजार 791 प्र्रकरण दर्ज किए गए। कुल 3 हजार 814  अवैध अतिक्रमण तोड़े गए। उनके कब्जे से 2243झ् एकड़ जमीन मुक्त कराई गई।  तीन माह में कुल 671 करोड़ की जमीन मुक्त कराई गई है।  एनएसए के पांच प्रकरण प्रस्तावित है। एनएसए के पांच प्रकरणों में आदेश जारी कर दिए गए है। जिला बदर के चार मामले प्रस्तावित है। जिला बदर के 18 प्रकरण आदेशित कर दिए है। उन्होंने बताया कि भू-माफिया के विरुद्ध पांच जिलों ने अच्छी कार्यवाही की है। इनमें भोपाल, खरगौन, इंदौर, झाबुआ, टीकमगढ़ शमिल है।

अवैध खनन के 3 हजार 531 मामले
 बैठक में बताया गया कि  खनन माफिया , अवैध रेत परिवहन और उत्खनन संबंधी कार्यवाही में एक जनवरी से 31 मार्च के बीच  कुल 3 हजार 531 प्रकरण दर्ज हुए। 857 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।  1 लाख 24 हजार घनमीटर रेत जप्त की गई। 3 हजार 490 चारपहिया वाहन जप्त किए गए और 28 वाहन राजसात किए गए है।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment