.....

भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर आशीष झा को व्हाइट हाउस का कोविड को-ऑर्डिनेटर नियुक्त किया

 अमेरिकी भारतीय डॉ. आशीष झा अगले महीने राष्ट्रपति जो बाइडेन के कोविड-19 रिस्पॉन्स को-ऑर्डिनेटर के रूप में कार्यभार संभालेंगे। राष्ट्रपति जो बाइडेन ने गुरुवार को कोविड-19 को-ऑर्डिनेटर के रूप में भारतीय-अमेरिकी डॉ. आशीष झा के नाम की घोषणा की है। राष्ट्रपति ने कहा कि ऐसे समय में जब हम एक और महामारी की तरफ बढ़ रहे हैं, इसको रोकने की रणनीति बनाने के लिए डॉ आशीष झा सबसे सही व्यक्ति हैं। व्हाइट हाउस ने बताया कि राष्ट्रपति जो बाइडेन के कोविड-19 को-ऑर्डिनेटर जेफ जेंट्स और उनकी डिप्टी नताली क्विलियन अगले महीने एडमिनिस्ट्रेशन छोड़ रहे हैं। ऐसे में इसकी जिम्मेदारी भारतीय-अमेरिकी सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ. आशीष झा को दी गई है।



राष्ट्रपति जो बाइडेन ने डॉ. आशीष झा की प्रशंसा करते हुए कहा, "डॉ. झा अमेरिका में अग्रणी सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों में से एक हैं। वे अपनी बुद्धिमता और शांत सार्वजनिक उपस्थिति से कई अमेरिकियों के लिए एक प्रसिद्ध व्यक्ति हैं." राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा, "जैसा कि हम महामारी में एक नए दौर में प्रवेश कर रहे हैं। मेरी राष्ट्रीय कोविड-19 पर तैयार योजना पर अमल कराना और कोविड से जोखिम का प्रबंधन करना है और डॉ. झा इस काम के लिए एकदम सही व्यक्ति हैं।" उन्होंने कहा, "मैं जेफ और डॉ. झा दोनों की सराहना करता हूं कि उन्होंने एक सहज संक्रमण सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम किया। मैं आने वाले महीनों में निरंतर प्रगति की आशा करता हूं।"

डॉ. आशीष झा ब्राउन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के डीन हैं। 51 वर्षीय झा ने प्रबंधन सलाहकार और राष्ट्रपति बराक ओबामा के पूर्व शीर्ष आर्थिक सलाहकार जेफ जेंट्स की जगह ली। अमेरिका में कोविड महामारी के फैलने के कुछ ही हफ्ते पहले यानी फरवरी 2020 में इन्हें स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ का नेतृत्व सौंपा गया था। फिर उन्होंने सितंबर 2020 में डीन के रूप में काम संभाला।

डॉ. आशीष झा का जन्म 1970 में बिहार के पुरसौलिया में हुआ था। इसके बाद वे 1979 में कनाडा और फिर 1983 में संयुक्त राज्य अमेरिका चले गए। 1992 में कोलंबिया विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री और 1997 में हार्वर्ड मेडिकल स्कूल से एम.डी. प्राप्त करने के बाद, उन्होंने सैन फ्रांसिस्को में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में आंतरिक चिकित्सा में भी प्रशिक्षण लिया है। इन्होंने हार्वर्ड ग्लोबल हेल्थ इंस्टीट्यूट का नेतृत्व संभालने के बाद विश्वविद्यालय का रुख किया और हार्वर्ड टी.एच. चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ और हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में छात्रों को पढ़ाया।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment