.....

जापान भारत में करेगा 3.2 लाख करोड़ का निवेश

 जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा शनिवार को भारत के दो दिवसीय दौरे पर नई दिल्‍ली पहुंचे हैं। केंद्रीय मंत्री अश्‍व‍िनी वैष्‍णव ने उनकी आगवानी की। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत भारत पहुंचने के बाद वो सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंचे हैं। इस दौरान वो 14वें भारत-जापान शिखर सम्मेलन में शामिल हुए। दोनों देशों के प्रधानमंत्री ने प्रेस को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि प्रगति, समृद्धि और साझेदारी भारत-जापान संबंधों के आधार पर हैं। हम भारत में जापानी कंपनियों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।


वन टीम वन प्रोजेक्ट पर काम

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'भारत-जापान आर्थिक साझेदारी के बीच आर्थिक साझेदारी में प्रगति हुई है। जापान भारत में सबसे बड़े निवेशकों में से एक है।' भारत-जापान मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर पर 'वन टीम-वन प्रोजेक्ट' के रूप में काम कर रहे हैं।

अंतरराष्ट्रीय मंचों पर समन्वय बढ़ाने का निर्णय

उन्होंने कहा क कि हमारी चर्चा ने हमारे आपसी सहयोग को नई ऊंचाइयों तक ले जाने का मार्ग प्रशस्त किया। हमने विपक्षीय मुद्दों के अलावा कई क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भी विचारों का आदान प्रदान किया। हमने यूनाइटेड नेशन और अन्य अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भी अपना समन्वय बढ़ाने का निर्णय लिया।

जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने कहा

उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया कई घटनाओं के कारण हिल गई है। भारत और जापान के बीच साझेदारी होना बहुत जरूरी है। हमने अपने विचार व्यक्त किए। यूक्रेन में रूस के आक्रमण के बारे में बात की। हमें अंतरराष्ट्रीय कानून के आधार पर शांतिपूर्ण समाधान की जरूरत है। किशिदा ने कहा, 'दोनों देशों को खुले और मुक्त हिंद-प्रशांत के लिए प्रयास बढ़ाने चाहिए।' जापान, भारत के साथ, युद्ध को समाप्त करने की कोशिश करता रहेगा। यूक्रेन और उसके पड़ोसी देशों को सहायता प्रदान करता रहेगा।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment