.....

BJP-TMC विधायक बीरभूम हिंसा मुद्दे पर आपस में भिड़े, सुवेंदू अधिकारी समेत 5 सस्पेंड

 बीरभूम हिंसा के मुद्दा पर सोमवार को पश्चिम बंगाल विधानसभा में भारी हंगामा हुआ। भाजपा विधायकों ने हिंसा के बहाने प्रदेश के हालात पर टिप्पणियां की और राष्ट्रपति शासन की मांग तो टीएमसी के विधायक भड़क गए। सदन में ही दोनों पक्षों में हाथापाई हो गई। बाद में विधानसभा अध्यक्ष ने कार्रवाई करते हुए सुवेंदू अधिकारी समेत 5 भाजपा विधायकों को सस्पेंड कर दिया। भाजपा विधायक बीरभूम हिंसा पर चर्चा की मांग कर रहे थे। तभी हंगामा शुरू हो गया और भाजपा विधायक मनोज तिग्गा के साथ कथित तौर पर मारपीट की गई। टीएमसी विधायक असित मजूमदार ने भी दावा किया कि अराजकता में उन्हें चोटें आईं।



इस बीच, भाजपा नेता अमित मालवीय द्वारा ट्विटर पर साझा किए गए एक वीडियो में विधायकों के एक समूह को एक-दूसरे को धक्का देते और चिल्लाते हुए दिखाया गया है। वहीं एक अन्य वीडियो में एक विधायक अन्य विधायकों पर उन्हें धक्का देने और उनकी शर्ट फाड़ने का आरोप लगाते हुए दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा, 'उन्होंने मुझे धक्का दिया...मेरी कमीज फाड़ दी।'

भाजपा के ये पांच विधायक सस्पेंड

1. सुवेंदू अधिकारी

2. मनोज तिग्गा

3. नरहरि महतो

4. शंकर घोष

5. दीपक बर्मन

बंगाल के बीरभूम में 22 मार्च को घरों में आग लगने से आठ लोगों की मौत हो गई थी। अज्ञात हमलावरों ने मंगलवार तड़के बोगटुई गांव में पेट्रोल बम फेंके और कुछ 10 घरों में आग लगा दी थी। यह घटना स्थानीय पंचायत के एक सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के उप प्रमुख की कथित हत्या के बाद हुई। 

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment