.....

गूगल के CEO सुंदर पिचाई के खिलाफ FIR दर्ज, कॉपीराइट के उल्लंघन का मामला

 मुंबई पुलिस ने अदालत के आदेश के बाद गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई के खिलाफ FIR दर्ज किया है और जांच शुरु कर दी है। ये मामला कॉपी राइट (Copy Right) के उल्लंघन से जुड़ा है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर सुंदर पिचाई के अलावा यूट्यूब के एमडी गौतम आनंद और गूगल के 4 अन्य अधिकारियों के खिलाफ कॉपीराइट की धाराओं 51, 63 और 69 के तहत मामला दर्ज किया है। आपको बता दें कि एक दिन पहले ही सुंदर पिचाई को भारत सरकार ने पद्म भूषण देने का ऐलान किया था। इसके अगले ही दिन उन्हें पुलिस की कार्रवाई की जानकारी मिली है।


क्यों दर्ज हुआ मामला?

दरअसल, भारतीय फिल्ममेकर और डायरेक्टर सुनील दर्शन ने कोर्ट में शिकायत की थी कि उनकी बनाई फिल्म को, बिना उनकी जानकारी के यूट्यूब पर अपलोड किया गया है। डायरेक्टर सुनील दर्शन ने बताया कि उनकी फ़िल्म 'एक हसीना थी एक दीवाना था' का कॉपीराइट उन्होंने किसी को नहीं दिया है। इसके बावजूद कई लोगों ने इस फिल्म के गाने और वीडियो गूगल और यूट्यूब पर अपलोड किए। उन्होंने कहा कि जब ये फिल्म के गाने और वीडियो अपलोड हो रहे थे, तब यूट्यूब और गूगल ने इसे अपलोड करने की इजाज़त भी दी। जिसकी वजह से उन लोगों ने करोड़ों रुपये कमाये और उनका (फिल्ममेकर का) करोड़ों रुपये का नुकसान कराया।

फिल्म मेकर सुनील दर्शन का कहना है कि उन्होंने इस बारे में गूगल से लगातार रिक्वेस्ट की और उनसे इसे अपने प्लेटफॉर्म से हटा लेने का आग्रह किया, लेकिन उनकी तरफ से कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला। आखिरकार उन्हें कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा। कोर्ट ने इस कॉपीराइट मामले में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई और पांच अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। MIDC पुलिस ने कॉपीराइट एक्ट 1957 की धारा 51, 63 और 69 के तहत एफआईआर दर्ज करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment