.....

चीन प्रकृति से छेड़छाड़ की सजा भुगत रहा

 बीजिंग: प्रकृति से छेड़छाड़ करने की बीमारी से ग्रस्त चीन को प्रकृति के क्रोध का सामना करना पड़ रहा है. भारी बारिश और बाढ़ के बाद अब समुद्री तूफान ने चीन में दस्तक दी है. पूर्वी झेजियांग प्रांत में को तूफान ‘इन फा’के चलते भारी बारिश की चेतावनी दी गई, जिसके बाद लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है. वहीं, हेनान प्रांत में बाढ़ में मरने वालों की संख्या बढ़कर 63 हो गई है.

इस साल 6 Hurricane आए

झेजियांग के स्थानीय आपदा नियंत्रण मुख्यालय ने बताया कि तूफान ने झोउशान शहर के पुतुओ जिले में दोपहर करीब साढ़े 12 बजे दस्तक दी थी. मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि तूफान (Hurricane) झेजियांग के जियाशिंग शहर और जियांगसू प्रांत के किडोंग शहर के बीच तटीय इलाकों में दोबारा जल्द दस्तक देगा. बता दें कि यह इस साल आने वाला छठा तूफान है.



International Flights रद्द

तूफान के मद्देनजर शंघाई के दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों ने सभी उड़ानें रद्द कर दीं हैं और लोगों को घरों से बाहर न निकलने की हिदायत दी गई है. इसके अलावा, कई इलाकों में ट्रेन सेवाओं को भी कुछ समय के लिए बंद किया गया है. चीन पहुंचने से पहले तूफान ने ताइवान में दस्तक दी थी. यहां तूफान की वजह से तेज बारिश हुई और कई पेड़ भी धराशायी हुए.  

अब तक की सबसे भयानक Rain

इस बीच, 21 जुलाई को हेनान प्रांत में आई अभूतपूर्व बाढ़ में मरने वालों की संख्या 63 हो गई है और पांच लोग अभी भी लापता है. मृतकों में वे 12 लोग भी शामिल हैं, जो प्रांतीय राजधानी झेंगझोउ में मेट्रो ट्रेन और सुरंग में पानी में भरने से उसमें डूब गए थे. चीन की सेना ने हेनान में 1,000 वर्षों में हुई सबसे भारी वर्षा के बाद नदी में बढ़ते पानी का रुख मोड़ने के लिए एक क्षतिग्रस्त बांध को उड़ा दिया था.


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment