महाकाल सवारी मार्ग में परिवर्तन


कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए आमजन के स्वास्थ्य सुरक्षा के सम्बन्ध में श्रावण मास-भादौ मास में निकलने वाली महाकालेश्वर भगवान की सवारी के मार्ग में परिवर्तन किया गया है। श्रावण मास में कावड़ यात्रियों का शहर में प्रवेश प्रतिबंध रहेगा। महाकालेश्वर मन्दिर में श्रावण मास में भस्म आरती का समय परिवर्तन होने के कारण दर्शनार्थियों को भगवान महाकाल के दर्शन प्रात: 5.30 बजे से रात्रि 9 बजे तक हो सकेंगे।


श्रावण मास में 9 से 10 हजार दर्शनार्थी प्रीबुकिंग के माध्यम से दर्शन कर सकेंगे। वर्तमान में चार हजार दर्शनार्थी दर्शन लाभ ले रहे हैं। इस दौरान महाकालेश्वर मन्दिर गर्भगृह में प्रवेश पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। नागपंचमी पर्व पर भगवान नागचंद्रेश्वर के स्क्रीन के माध्यम से लाईव दर्शन होंगे। नागचंद्रेश्वर मन्दिर में दर्शनार्थियों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment