आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में लीक हुई जहरीली Styrene Gas, बचने का है यह तरीका


आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में Vizag की पॉलीमर फैक्ट्री से लीक हुई जहरीली गैस से सैंकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं। अब तक इस जहरीली गैस से 8 लोगों की मौत होने की जानकारी सामने आ रही है, वहीं लगभग 170 लोगों को अब तक अस्पताल में भर्ती कराया जा चुका है।


इस पॉलीमर फैक्ट्री से जहरीली Styrene Gas का रिसाव हुआ है जिसकी जद में सैंकड़ों लोग आ गए है। यह जहरीली गैस कितनी खतरनाक हो सकती है इसका इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि इसके दुष्प्रभाव से लोगों में कैंसर जैसी गंभीर बीमारी तक हो सकती है। यह देखने और सुनने की क्षमता पर भी असर डाल सकती है।
यह समस्याएं कर सकती है पैदा
जहरीली Styrene Gas के सीधे संपर्क में आने पर कई तरह की शारीरिक दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। Styrene Gas का आमतौर पर इस्तेमाल प्लास्टिक यानि पॉलिविनाइल क्लोराइड बनाने वाले प्लांट्स में किया जाता है। ये इथाइल बेंजीन से बनाई जाती है। इससे आंखों में तेज जलन के साथ ही सांस लेने में भी तकलीफ होती है।
एक स्टडी के मुताबिक यह गैस अगर सीधे इंसान के संपर्क में आती है तो कैंसर का कारण भी बन सकती है। हालांकि इसे लेकर अब तक विशेषज्ञ एकमत नहीं हैं। इस घातक गैस के संपर्क में आने पर स्किन प्रॉब्लम हो सकती है। इसके अलावा उल्टियां होना, जी घबराना जैसे लक्षण भी सामने आते हैं। इससे लगातार खुजली होने की शिकायत हो सकती है। इससे बचने के लिए संपर्क में आने के तत्काल बाद दूषित कपड़े उतारना जरूरी है। Styrene Gas इंसानों के नर्वस सिस्टम पर भी असर डालती है। यह पैंक्रियाटिक कैंसर को भी जन्म दे सकती है।
बचने के लिए करें ये काम
विजाग हादसे के बाद हिदायतें भी जारी की गई हैं। इसके तहत लोगों को ज्यादा पानी पीने की सलाह दी गई है। घर में रहने के दौरान भी मास्क पहने रहें या फिर गीले कपड़े को मुंह पर बांधे रहें। आंखों में अगर खुजली हो रही है तो Eye Drops का इस्तेमाल करें। अगर बेहतर महसूस नहीं कर रहे हैं तो एंटी एलर्जिक दवा Citrizen लें। उल्टियां होने की सूरत में Domstol टैबलेट लें। गैस के प्रभाव को खत्म करने के लिए दूध, केला सहित अन्य पौष्टिक आहार लें। अगले 48 घंटे तक घर में ही रहें, किसी भी काम के लिए घर से बाहर न निकलें।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment