Essential Commodities Act में बदलाव


वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह बताया कि 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज में किसके लिए क्या है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश में इस 'आत्म निर्भर भारत' पैकेज का ऐलान किया था। वित्त मंत्री ने शुक्रवार को किसानों और कृषि पर फोकस किया।


अन्य बड़ी घोषणाओं के साथ ही Essential Commodities Act यानी आवश्यक वस्तु अनिधियम में बदलाव का भी ऐलान किया गया। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि किसानों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य मिल सकेगा। जानिए क्या है आवश्यक वस्तु अनिधियम और इसमें क्या बदलाव किया गया है -
क्या है आवश्यक वस्तु अनिधियम: आर्थिक विशेषज्ञ डॉ. रवि सिंह बताते हैं कि आवश्यक वस्तु अनिधियम 65 साल पुराना है और मांग तथा आपूर्ति को कंट्रोल करने के लिए सरकार समय-समय पर इसमें बदलाव करती है। इसके जरिए सरकार कीमतों को रेग्युलेट कर पाती है। किसानों को उनकी उपज ही सही कीमत मिल सके, इसलिए इस बार भी मोदी सरकार ने कानून में बदलाव किए हैं। हाल ही में सरकार ने सेनिटाइजर और मास्क को भी इसमें शामिल किया था, ताकि इनकी कीमतों को कंट्रोल किया जा सके। साथ ही स्टॉक लिमिट को भी जोड़ा गया था।
अभी क्या बदलेगा: इस बदलाव के जरिए सरकार ने कुछ खाद्य पदार्थों जैसे- अनाज, खाद्य तेल, तिलहन, दलहन, आलू और प्याज को अब सरकारी नियंत्रण से बाहर करने का फैसला किया है। यानी जहां खाद्य उत्पादों के उत्पादन और बिक्री को नियंत्रणमुक्त किया गया है, वहीं किसी भी उत्पाद पर स्टॉक सीमा लागू नहीं की जाएगी। इन उत्पादों पर राष्ट्रीय आपदा जैसे अकाल, बाढ़ जैसे आसाधारण हालात में ही स्टॉक सीमा लगाई जा सकेगी।
किसानों को कैसे फायदा होगा: कानून में यह बदलाव किसानों के लिए बहुत बड़ी घोषणा है। इससे किसानों को कृषि उत्पादों का अच्छा मूल्य मिलेगा। डॉ. रवि सिंह के मुताबिक, उम्मीद है कि कानून में इस बदलाव का सबसे बड़ा फायदा किसानों को मिलेगा, लेकिन सरकार को यह ध्यान भी रखना होगा कि कहीं इसके कारण महंगाई न बढ़ जाए।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment