UP निकाय चुनावः 16 में से 14 नगरनिगमों पर BJP का कब्जा, 2 पर BSP

लखनऊ :  उत्तर प्रदेश के निकाय चुनावों में भाजपा को बड़ी जीत मिली है। सीएम योगी की अगुवाई में हुए चुनाव में भाजपा ने 16 नगरनिगमों में से 14 पर कब्जा जमाया है।
वहीं अलीगढ़ और मेरठ नगर निगम महापौर की सीट जीतने में बसपा सफल हो गई। सपा और कांग्रेस का खाता भी नहीं खुल सका। नगर पालिका और नगर पंचायतों में भी भाजपा की ही बढ़त मिली है। इनमें अवश्य भाजपा के बाद सर्वाधिक सीटें सपा ने हासिल की है।
 तीसरे नंबर पर बसपा है। सबसे पीछे रही कांग्रेस। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के क्षेत्र काशी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर समेत अयोध्या व मथुरा में भी भाजपा के ही महापौर जीते हैं।
कांग्रेस अपने उपाध्यक्ष राहुल गांधी केे गढ़ अमेठी में भी पिट गई। वहीं निर्दलीयों ने भी बड़ी संख्या में जीत दर्ज की है। प्रदेश के 652 नगरीय निकायों में इस बार सभी दलों ने अपने सिंबल पर चुनाव लड़ा। सिर्फ कौशांबी के भरवारी नगर पालिका परिषद में चुनाव नहीं हुआ।
सभी निकायों में 11995 पार्षद/सदस्य के पदों पर भी चुनाव हुए। इनमें नगर निगम पार्षद के 1300, नगर पालिका परिषद के 5261 और नगर पंचायतों के 5434 सदस्य के पद थे। भाजपा 592 वार्डों में पार्षद जिताने में सफल रही। 
सपा के 201, बसपा के 147, कांग्रेस के 110 और 222 निर्दलीय पार्षद जीते हैं। आप के तीन, ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल के 12 और रालोद के चार पार्षद जीते हैं।
अमूमन शहरी क्षेत्रों में बसपा का प्रदर्शन कमजोर होता रहा है लेकिन, इस बार बसपा ने अपना प्रभाव दिखाया। सपा नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों में मुकाबिल जरूर रही लेकिन, इस बात से इन्कार नहीं किया जा सकता कि उसके नेतृत्व ने इस चुनाव को गंभीरता से नहीं लिया। 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और संगठन के लोग पूरी ताकत से चुनाव प्रचार कर रहे थे पर, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव प्रचार में नहीं निकले। उनके इस रुख का मतदाताओं पर भी असर पड़ा।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment