'न्यूटन' ने ऑस्कर तक पहुंचने के लिए 'बाहुबली 2' फिल्म को हराया

राजकुमार राव स्टारर फिल्म 'न्यूटन' ने भले ही ऑस्कर की दौड़ में अभूतपूर्व कमाई करने वाली फिल्म 'बाहुबली 2' को हरा दिया हो, लेकिन कमाई के मामले में अभी इसे काफी लंबा रास्ता तय करना है। शुक्रवार को रिलीज हुई इस फिल्म को पहले दिन केवल 96 लाख रुपए की कमाई हुई है।
ऑस्कर में जाने की घोषणा का इसे फायदा तो मिलेगा। शनिवार और रविवार को इसकी कमाई बढ़ सकती है। वैसे यह फिल्म ज्यादा महंगी नहीं है। इसे 10 करोड़ रुपए के बजट में बना कर रिलीज कर लिया गया है। पहले हफ्ते में ये लागत वसूलने का पूरा दम रखती है।
बता दें कि इस बार के अॉस्कर फिल्म समारोह में विदेशी सिनेमा सेक्शन के लिए भारत की ओर से अॉफिशियल एंट्री होगी। अब इसे फॉरेन लैंग्वेज के पांच टॉप नॉमिनीज से भिड़ना है। एेसा पहले केवल तीन फिल्म 'मदर इंडिया', 'सलाम बॉन्बे' और 'लगान' ही कर पाई हैं।
'न्यूटन' की जीत में एक और खास बात है। इसने ऑस्कर तक पहुंचने के लिए 'बाहुबली 2' जैसी भव्य और सफल फिल्म को हराया है। एक जूरी मेंबर ने जानकारी दी है 'हमारे पास 26 एंट्रीज थीं। 12 हिंदी, 5 मराठी, 5 तेलुगु से फिल्में थी और बाकि दूसरी भाषाओं की। 'बाहुबली 2' को तेलुगु भाषा में भेजा गया था। हमने सभी फिल्मों को 16 तारीख तक देखा और फिर ये फैसला लिया। सभी मेंबर्स 'न्यूटन' के पक्ष में थे।'
इसको लेकर राजकुमार राव ने कल ट्वीट किया ' मैं खुश हूं कि न्यूटन इस साल अॉस्कर के लिए भारत से अॉफिशियल एंट्री है।' एक और खास बात कि अमिताभ बच्चन ने भी इस फिल्म को देखने के बाद इसे आई ओपनर कह कर तारीफ की थी।
बता दें कि, फिल्म न्यूटन का निर्देशन अमित मसूरकर ने किया है। इस फिल्म का कहानी एक आदर्शवादी लड़के की है जिसका नाम तो है नूतन लेकिन, उसने अपना नाम न्यूटन रख लिया है। 
यह आदर्शवादी लड़का (राजकुमार राव) ज़िंदगी के हर पहलू में ईमानदार रहने की कोशिश करता है। ऐसे में चुनाव के दौरान उसकी ड्यूटी लगती है छत्तीसगढ़ के आदिवासी इलाके में, जहां सिर्फ गिने-चुने वोटर हैं और यह इलाका नक्सलवाद से बुरी तरह से जूझ रहा है। ऐसे में न्यूटन क्या वहां पर निष्पक्ष वोटिंग करा पायेगा? इसी ताने-बाने पर बुनी गई है फिल्म 'न्यूटन'।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment