BJP के वरिष्ठ नेता ने सरकार को सुस्त अर्थव्यवस्था की रफ्तार पर दिखाया आइना

नई दिल्ली  : नोटबंदी और अर्थव्यवस्था की सुस्त रफ्तार पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के ही एक वरिष्ठ नेता ने सरकार और वित्त मंत्री को आइना दिखा दिया है. 

अर्थव्यवस्था के हालात लेकर विपक्ष सरकार पर पहले से हमलावर था लेकिन अब यशवंत सिन्हा जैसे नेता के वार ने सरकार को परेशान कर डाला है.

 यशवंत सिन्हा एनडीए सरकार में वित्त मंत्री भी रह चुके हैं. यशवंत सिन्हा ने लिखा कि ‘निजी निवेश में आज जितनी गिरावट है उतनी दो दशक में नहीं हुई, औद्योगिक उत्पादन का बुरा हाल है, कृषि क्षेत्र परेशानी में है, बड़ी संख्या में रोजगार देने वाला निर्माण उद्योग भी इस वक्त संकट में है.

 सिन्हा ने कहा कि नोटबंदी ने सिर्फ आग में घी डालने का काम किया है. यशवंत सिन्हा ने अरुण जेटली पर हमला बोलते हुए अपने लेख में कहा है कि प्रधानमंत्री ये दावा करते हैं कि उन्होंने काफी करीब से गरीबी देखी है. 

उनके वित्त मंत्री इस बात के लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं कि देश का हर नागरिक भी गरीबी को करीब से देखे.

 यशवंत सिन्हा ने यह कहकर माहौल और गरमा दिया है कि बीजेपी के भीतर भी बहुत सारे नेता उन्हीं की तरह सोच रहे हैं, लेकिन, डर से जुबान नहीं खोल पा रहे.

यशवंत सिन्हा का बयान क्या सचमुच सरकार के लिए आंखे खोल देने वाला है. विपक्षी दलों से लेकर अपनों के इस हमले से एनडीए को क्या सच में नुकसान हो सकता है. 
हम उन 5 बिंदुओं पर बात करेंगे जिनपर या तो सरकार का रुख साफ नहीं है या बीते कुछ महीनों से इन्हीं बिंदुओं पर सरकार को निगेटिव मार्किंग मिली है. 2019 में एनडीए सरकार के लिए अगर खतरे की घंटी बजी तो ये कारक अहम होंगे.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment