हीराखंड एक्सप्रेस के इंजन और नौ कोच पटरी से उतरे, 39 मरे, 62 यात्री घायल

भुवनेश्वर : जगदलपुर से भुवनेश्वर जा रही हीराखंड एक्सप्रेस (18448) के पटरी से उतर जाने में भी साजिश की आशंका जताई जा रही है।
 रेलवे के मुताबिक, आंध्र प्रदेश के विजयानगरम में जिस कुनेरू स्टेशन के पास हादसा हुआ वहां पटरी टूटी-फूटी पाई गई है।
इस बीच, शनिवार रात हीराखंड एक्सप्रेस के इंजन और नौ कोच के पटरी से उतर जाने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 39 हो गई है। 62 यात्री घायल भी हैं।
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दुर्घटना पर गहरा शोक जताया है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है।
रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने बताया कि पहली नजर में हादसे का कारण पटरी का टूटा होना माना जा रहा है। दुर्घटनास्थल पर पटरी टूटी हुई मिली है। पटरी कैसे टूटी, यह जांच का विषय है।
सूत्रों के मुताबिक, रेलवे की आशंका को देखते हुए केंद्र सरकार इसकी जांच भी राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) को सौंप सकती है। 
एनआइए पहले से ही बिहार के मोतिहारी में गिरफ्तार किए गए मोती पासवान व उसके दो सहयोगियों के उस दावे की जांच कर रही है, जिसमें कानपुर के पुखरायां के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसे में आइएसआइ के हाथ की बात कही गई है।

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment