अरुणाचल देश का अभिन्न हिस्सा, US राजदूत की यात्रा में कुछ गलत नहीं : स्वरूप

अमेरिकी राजदूत रिचर्ड वर्मा की अरुणाचल प्रदेश की हालिया यात्रा पर चीन के ऐतराज जताए जाने पर भारत ने कहा है कि एक ऐसे राज्य की उनकी यात्रा के बारे में कुछ भी असामान्य नहीं है जो देश का अभिन्न हिस्सा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने सोमवार को यहां कहा, अमेरिकी राजदूत ने अरुणाचल प्रदेश का दौरा किया, जो देश का अभिन्न हिस्सा है जिसके लिए उन्हें मान्यता प्राप्त है।

वर्मा की यात्रा पर ऐतराज जताते हुए चीन ने कहा कि वह इसके सख्त खिलाफ है और चीन-भारत सीमा विवाद में अमेरिका का कोई भी हस्तक्षेप इस विषय को और अधिक पेचीदा बनाएगा तथा कड़ी मेहनत से सीमा पर हासिल की गई शांति में खलल डालेगा।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कांग ने अमेरिका से भारत-चीन सीमा विवाद में हस्तक्षेप करने से बचने को भी कहा। उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू के न्योते पर वर्मा की 22 अक्तूबर की तवांग यात्रा का जिक्र करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा, हमने इस बात पर भी गौर किया कि वरिष्ठ अमेरिकी राजनयिक अधिकारी ने जिस स्थान का दौरा किया वह चीन और भारत के बीच विवादित क्षेत्र है। हम उनकी यात्रा के सख्त खिलाफ हैं। गौरतलब है कि चीन अरूणाचल प्रदेश के दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा होने का दावा करता है।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment