.....

'मदारी' के प्रमोशनल इवेंट में इरफान खान ने कहा- खरीदे बकरों की कुर्बानी से कौन-सी दुआ कुबूल होती है

  इमोशनल थ्रिलर मूवी 'मदारी' के प्रमोशनल इवेंट में ईद-उल-जुहा को लेकर इरफान खान ने कॉन्ट्रोवर्शियल स्टेटमेंट दिया है। उन्होंने कहा, कुर्बानी का मतलब अपनी कोई अजीज चीज कुर्बान करना होता है।

 ये नहीं कि बाजार से आप कोई दो बकरे खरीद लाए और उनको कुर्बान कर दिया। इरफान इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा, आपको उन बकरों से कोई लेना-देना नहीं है तो वो कुर्बानी कहां से हुई?

 इससे कौन-सी दुआ कुबूल होती है? हर आदमी अपने दिल से पूछे कि किसी और की जान लेने से उसको कैसे पुण्य मिल जाएगा?

 बुधवार को इरफान ने यह भी कहा,हमारे जो भी त्योहार हैं, उनका मतलब हमें वापस से समझना चाहिए कि वे किसलिए बनाए गए हैं। 

सौभाग्य है कि एेसे देश में रह रहा हूं जहां हर धर्म का सम्मान होता है।सलमान और दूसरे सेलिब्रिटीज के दिए जाने वाले बयानों को लेकर इरफान ने कहा कि सेलिब्रिटी भी इंसान हैं।

 आप उसे महान आत्मा मत समझिए। उससे भी गलती हो सकती है। उन्हें सीरियसली नहीं लेना चाहिए। इरफान ने कहा- अपना हीरो उन्हें बनाएं जो बिना स्वार्थ के कुर्बानी देकर लोगों की मदद करे।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment