.....

चैम्पियंस ट्रॉफी-2016 : भारत के बढ़त बनाने के बावजूद जर्मनी ने ड्रॉ कराया मैच

लंदन।  भारतीय टीम को शुक्रवार को चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी टूर्नामेंट में गत चैंपियन जर्मनी के खिलाफ मैच में दो बार बढ़त बनाने के बावजूद 3-3 से ड्रॉ खेलना पड़ा। 
दोनों के बीच रायपुर में पिछले वर्ष नवंबर में खेला गया हॉकी व‌र्ल्ड लीग का मैच भी एक-एक से बराबरी पर छूटा था। दोनों टीमों के बीच यह 92वीं भिड़ंत थी और 25वां मैच है जो ड्रॉ रहा।
भारत की ओर से रघुनाथ (सातवें मिनट), मनदीप सिंह (26वें) और हरमनप्रीत सिंह (32वें) ने एक-एक गोल किया। अंडरडॉग भारत ने अपने बेहतर खेल से ओलंपिक चैंपियन जर्मनी को बराबरी की टक्कर दी।
 सातवें मिनट में चिंगलेनसाना सिंह को बलपूर्वक रोकने पर भारत को पहला पेनाल्टी कॉर्नर मिला। रघुनाथ ने जर्मन गोलकीपर वॉल्टर के दायें ओर धमाकेदार ड्रैगफ्लिक से गोलकर टीम को 1-0 से बढ़त दिला दी।
26वें मिनट में जर्मनी के ग्रेमबुश ने तीसरे पेनाल्टी कॉर्नर के जरिये टीम को 1-1 की बराबरी दिलाई। पास बैक होते ही एसवी सुनील ने डी में गहरी पैठ लेते हुए सटीक पास मनदीप सिंह को दिया, जिन्होंने गोल करने में कोई चूक नहीं की और भारत को 2-1 से आगे कर दिया।
 मध्यांतर के बाद 182वां मैच खेल रहे सुनील ने भारत के लिए 32वें मिनट में तीसरा पेनाल्टी कॉर्नर अर्जित किया। हरमनप्रीत ने कारपेट ड्राइव से गोलकर भारत को 3-1 की मजबूत स्थिति में ला दिया।

36वें मिनट में चौथे पेनाल्टी कॉर्नर पर ग्रेमबुश ने जर्मनी के लिए दूसरा गोल दागा। 52वें मिनट में उथप्पा के क्रॉस पर मनदीप मौका चूके। 
57वें मिनट पर जर्मन पेनाल्टी कॉर्नर पर रक्षक प्रदीप मोर के सीने पर लगी और जर्मनी को पेनाल्टी स्ट्रोक मिला। गोमेल ने स्कोर 3-3 की बराबरी कर अंक बांट लिए।

आज भारत का सामना मेजबान ब्रिटेन से होगा। दोनों के बीच यह 76वां मुकाबला होगा। चैंपियंस ट्रॉफी में अभी तक दोनों टीमों के बीच सात मैच खेले गए हैं, इनमें से दो भारत ने जबकि तीन ब्रिटेन ने जीते हैं। दो मैच ड्रॉ रहे।

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment