.....

भीषण गर्मी और उमस के बीच आया मानसून, पूर्वी मप्र में तेज बौछारें पड़ने के आसार

  भाेपाल। भीषण गर्मी और उमस झेल रहे लाेगाें के लिए अच्छी खबर है। दक्षिण-पश्चिम मानसून ने गुरुवार काे अपनी तय तारीख 16 जून काे बैतूल एवं खंडवा के रास्ते प्रवेश कर लिया है। हालांकि राजधानी में मानसून के आने में अभी थाेड़ा और इंतजार करना हाेगा। मौसम विज्ञानियाें के मुताबिक पूरे मध्य प्रदेश में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।


विशेषकर भाेपाल, जबलपुर, नर्मदापुरम, रीवा, सागर एवं शहडाेल संभागाें के जिलाें में अच्छी वर्षा हाेगी। उधर गुरुवार काे सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक खजुराहाे में 18, नरसिंहपुर में 11, बैतूल में आठ, नौगांव में सात, दमाेह एवं रीवा में दाे, मलाजखंड, ग्वालियर, गुना एवं भाेपाल में बूंदाबांदी हुई। प्रदेश में सबसे अधिक 40 डिग्री सेल्सियस तापमान राजगढ़ में दर्ज किया गया।

मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि मध्यप्रदेश में मानसून ने पश्चिमी मप्र के खंडवा, बैतूल जिले से प्रवेश कर लिया है। वर्तमान में दक्षिण-पश्चिम की उत्तरी सीमा पोरबंदर, भावनगर, खंडवा, गोंदिया, दुर्ग, भवानीपटना, कलिंगपट्टनम और बंगाल की खाड़ी से होते हुए बुलरघाट तथा सुपौल से गुजर रही है। साेमवार तक मानसून के मप्र के आधे हिस्से में पहुंचने की संभावना है। साहा के मुताबिक अलग-अलग स्थानाें पर बनी मौसम प्रणालियाें के प्रभाव से मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं। वर्तमान में पूर्वी मध्यप्रदेश के जबलपुर, शहडाेल, रीवा, सागर संभागाें के जिलाें में तेज बौछारें पड़ रही हैं।

ये मौसम प्रणालियां हैं सक्रिय

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक कमजाेर पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर पर बना हुआ है। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान के आसपास मौजूद है। हरियाणा पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। इस चक्रवात से लेकर नागालैंड तक एक ट्रफ लाइन बनी हुई है। राजस्थान पर भी एक चक्रवात बना हुआ है। इस चक्रवात से लेकर अरब सागर तक एक ट्रफ लाइन बनी हुई है। बंगाल की खाड़ी में भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। इन छह मौसम प्रणालियाें के कारण हवाओं के साथ नमी आ रही है। इस वजह से पूरे प्रदेश में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। विशेषकर रीवा, सागर, जबलपुर, शहडाेल संभागाें के जिलाें में दाे-तीन दिन तक अच्छी बारिश हाेने की उम्मीद है।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment