.....

54 विधानसभा क्षेत्रों में बनी बाल कांग्रेस कमेटी

  भोपाल : कांग्रेस की विचारधारा से जोड़ने के लिए 16 से 20 साल तक के किशोर और युवाओं को जोड़ने के लिए बनी बाल कांग्रेस को इंदौर और देवास जैसे जिलों में बेहतर रिस्पांस नहीं मिल पा रहा है। हालांकि देवास से सटे शाजापुर जिले में सबसे अच्छा रिस्पांस मिला है। इस जिले की कई विधानसभा क्षेत्रों में बाल कांग्रेस की सदस्यता हजार के पार हो गई है।

बाल कांग्रेस के टीम पूरे प्रदेश में अपना नेटवर्क तैयार करने में लगी हुई है। पिछले 6 महीनों में इस टीम को प्रदेश के कई हिस्सों में अच्छा रिस्पांस मिला है। हजारों की संख्या में किशोर और युवा इसके सदस्य बने हैं। अब यह देखा जा रहा है कि किस जिले में अच्छा रिस्पांस नहीं आ रहा है, वहां पर बाल कांग्रेस की टीम पार्टी के बड़े नेताओं की मदद से अपने संगठन को मजबूत करेगी। इसमें सबसे पहला नाम इंदौर जिले का आया है।

इंदौर जिले में कांग्रेस के तीन विधायक हैं। इनमें से एक विधायक शहर के हैं, जबकि दो विधायक ग्रामीण क्षेत्र के हैं। अब इन तीनों विधायकों सहित यहां के अन्य नेताओं की मदद लेकर बाल कांग्रेस यहां पर अपनी टीम को मजबूत बनाने के लिए काम करेगी। इसी तरह देवास शहर में तो बाल कांग्रेस को ठीक-ठाक रिस्पांस मिला लेकिन ग्रामीण क्षेत्र की विधानसभाओं में इसके रिस्पांस से बाल कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारी चिंतित हैं। यहां पर भी कांग्रेस के एक वरिष्ठ विधायक की मदद ली जाएगी।

बाल कांग्रेस की 54 विधानसभाओं में कमेटी बन चुकी है। बाकी के विधानसभा क्षेत्रों में आने वाले दो महीने में टीम बनाने का टारगेट रखा गया है। ऐसा बताया जाता है कि इस महीने ही अधिकांश विधानसभा क्षेत्रों में कमेटी बनाई जाएंगी।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment