.....

टीकमगढ़ अफसरों से CM ने कहा किसी माफिया-गुंडों पर दया की जरूरत नहीं

  भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने टीकमगढ़ कलेक्टर और एसपी से कहा है कि किसी माफिया, गुंडा की दादागिरी क्षेत्र में न चलने दें। दया की कोई आवश्यकता नहीं है। ऐसे लोगों पर सख्त एक्शन लें। जुआरियों, सटोरियों पर कार्यवाही करें। हमारा पवित्र धर्म है कि हमारे क्षेत्र के आंगनबाड़ी के बच्चे कुपोषित न रहें। सरकारी सामग्रियों का ठीक से वितरण हो लेकिन हम समाज से जो करवा सकते हैं, वो कराएंं। इसे रस्मी तौर पर न देखें। हर महीने आंगनबाड़ी के बच्चों का टारगेट बनाकर वजन कीजिये और अंडरवेट बच्चों को स्वस्थ कीजिए। सीएम चौहान ने ये बातें गुरुवार की सुबह टीकमगढ़ जिले की समीक्षा बैठक में कहीं। 


उन्होंने कलेक्टर सुभाष द्विवेदी से कहा कि टीकमगढ़ जिले के जिन गांवों में दूर से पानी ला रहे हैं, वहां पेयजल की व्यवस्था करें। जिला प्रशासन के लोग प्रभारी मंत्री के साथ विशेष बैठक कर तात्कालिक और दीर्घकालिक समाधान निकालें। जहां हैंडपंप की आवश्यकता है, वहाँ, तुरंत लगाएं। एमडी, जल निगम टीकमगढ़ जिले में जो सामग्री लग रही है, उसकी जांच करें। घटिया सामग्री की जानकारी मिली है। सीएम चौहान ने कहा कि जहां भर्तियाँ होना है, उसे भी चेक करें। कंपनियों पर दबाव बनाएँ, उनके पेमेंट तभी हों, जब वो सड़कों का रेस्टोरेशन पूरा कर लें। जो काम लेट चल रहे हैं, उन्हें दिखा लें। इसके अलावा राशन वितरण समेत अन्य प्राथमिकता वाले कामों की भी समीक्षा की गई।

बिजली आपूर्ति और बिजली बिल माफी योजना
सीएम चौहान ने कहा कि आप ऊर्जा साक्षरता मिशन भी चलाएं। हम 22,500 करोड़ रुपए बिजली सब्सिडी पर खर्च कर रहे हैं। हमें लोगों को जागरुक करना है कि अगर जरूरत न हो, तो बिजली उपकरण न चलाएं। अगर हम बिजली बचाएंगे तो प्रदेश के 4000 करोड़ रुपए बच जाएंगे। इसको हम दूसरे काम में लगाएंगे। उन्होंने कहा कि विद्युत बिल राहत योजना में 47 करोड़ रुपए की राहत जिले में दे रहे हैं। मैं कलेक्टर को निर्देश दे रहा हूँ, बिजली बिल माफी कैंप में जनप्रतिनिधियों को इन्वॉल्व करें। आगे से जितने बिजली बिल राहत के कैम्प लगें उसमें आमंत्रित करें। सीएम ने कहा कि टीकमगढ़ जिले की हर विधानसभा के विकास का सुनियोजित रोडमैप चाहिए। विधायकगण आजीविका मिशन की बहनों के साथ जुड़ें, उनसे संवाद करें। हमारी बहनें नई शक्ति बनकर उभरी हैं। मुख्यमंत्री भू-आवासीय अधिकार योजना में 10,000 से अधिक पात्र उम्मीदवार हैं। 106 गाँव में अतिरिक्त आबादी भूमि घोषित करना होगी। सीएम ने कहा कि पात्रता अच्छे से चेक कर लें। कोई इसमें गरीबों से पैसे न मांगे।

पीएम आवास के काम की सराहना
पीएम आवास योजना में 91.86% मकान ग्रामीण में पूरे हुए हैं। यह प्रशंसनीय है। यह राज्य के एवरेज से ज्यादा है। मैं बधाई देता हूँ। जो बचे हैं उन्हें जल्द पूरा कराएं। जिन हितग्राहियों की मृत्यु हो गई है, उनके वारिस ढूंढकर उनके नाम पर उस मकान को पूरा करें। लोगों के दिमाग में यह रहे कि सरकार गरीबों को मकान दे रही है। 28 मई को दोपहर 1 बजे कार्यक्रम आयोजित होगा जिसमें हितग्राहियों द्वारा भूमिपूजन कराया जाएगा। आप सभी कहीं न कहीं उपस्थित रहें।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment