.....

सीएम राइज स्कूल का नाम होगा महात्मा ज्योतिबा फुले

  दमोह। मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार को महात्मा ज्योतिबा फुले की जयंती समारोह में शामिल होने दमोह पहुंचे। स्थानीय पालीटेक्निक कालेज में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें दमोह सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल, राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल, मंत्री भरत सिंह कुशवाहा के साथ जिले की तीनों विधानसभाओं के विधायक व पूर्व मंत्री की मौजूदगी रही। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने करोड़ों रुपये के निर्माण कार्यों का भूमि पूजन किया और फिर मंच पर पहुं चकर कन्या पूजन के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की गई। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर घोषणा की कि महात्मा ज्योतिबा फुले के नाम पर सीएम राइज स्कूल का नाम रखा जाएगा। इसके अलवा महात्मा फुले के जीवन के संबंध में अनेक बातें कहीं। साथ ही बटियागढ़ ग्राम पंचायत को नगर पंचायत बनाने की घोषणा भी मुख्यमंत्री द्वारा की गई। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री के साथ अन्य मंत्रियों ने मंच संचालन किया और अपनी बात रखी।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस देश में दो महात्मा हुए एक महात्मा गांधी और दूसरे ज्योतिबा फुले जिन्हाेंने इस देश को नई दिशा दी। इस दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने के कहा कि मध्यप्रदेश के शैक्षणिक पाठ्यक्रम में महात्मा ज्योतिबा फुले और सावित्री बाई की जीवनी शामिल होगी। ताकि बच्चों को पता चल सके कि ज्योतिबा फुले कौन थे और उन्होंने इस समाज के लिए क्या किया। दमोह में ज्योतिबा फुले के नाम से सीएम राइज स्कूल की मांग को पूरा किया जाएगा। ज्योतिबा फुले की जयंती पर हर वर्ष ऐच्छिक अवकाश भी प्रत्येक वर्ष होगा। पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधनिक आयोग का दर्जा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिना शिक्षा के सब अधूरा। महिलाओं की शिक्षा में नई क्रांति ज्योतिबा फुले ने पैदा की थी उन्होंने विधवा पुनर्विवाह की मुहिम चलाई। सभी वर्गों की हालत सुधारने के लिए लगातार संघर्ष किया।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment