.....

कई राज्यों में हिंसा: दंगाई चिन्हित, जेल भेजेंगे, नुकसान भी वसूलेंगे

 भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खरगोन और बड़वानी के सेंधवा में रामनवमी के जुलुस पर हुए पथराव करने वालों पर सख्त तेवर दिखाए हैं। सीएम ने कहा  मध्य प्रदेश की धरती में दंगाइयों के लिए कोई स्थान नहीं है। दंगाई चिन्हित कर लिए गए हैं। दंगाइयों को सिर्फ जेल भेजना नहीं है। जिन्होंने पत्थर चलाए हैं, संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है उनको दंडित तो करेंगे ही साथ में सार्वजनिक या निजी संपत्ति के नुकसान की वसूली भी इस संदर्भ में पारित अधिनियम के अंतर्गत होगी।  


जहां से पत्थर आए उन घरों को पत्थरों का ढेर बना देंगे
वहीं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जिस घर से पत्थर आये हैं उस घर को पत्थरों का ढेर बना देंगे। उन्होंने बताया कि खरगोन में 77 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। अभी और लोगों की भी गिरफ्तारी होगी। खरगोन में अब शांति है। मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में शांति भंग करने की कोई कितने भी मंसूबे पाल ले, उनके मंसूबे हम  सफल नहीं होने देंगे।

एसपी सिद्धार्थ की अस्पताल से छुट्टी, स्थिति नियंत्रण में
खरगौन में गोली के छर्रे लगने से घायल हुए एसपी सिद्धार्थ चौधरी को आज अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इंदौर आईजी राकेश गुप्ता ने बताया कि कर्फ्यू जारी है। दंगाइयों की धरपकड़ की जा रही है। सेंधवा में भी शांति है।

गुजरात: एक की मौत
गुजरात के साबरकांठा में उपद्रवियों ने कई दुकानें जला दी तो आणंद जिले में एक शख्स की मौत हो गई। इलाके में भारी पुलिस बल तैनात की गई है। साबरकांठा के हिम्मत नगर में विश्व हिंदू परिषद ने रामनवमी की शोभायात्रा निकाली। जुलूस पर कुछ उपद्रवियों ने पत्थर मारने शुरू कर दिए। उपद्रवियों ने सड़क पर कई गाड़ियों को फूंक दिया। दुकानों में आग लगा दी। पुलिस ने 15 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है।

प. बंगाल: 17 अरेस्ट
पश्चिम बंगाल के बांकुरा में मचानताला पेट्रोल पंप मोड़ के पास स्थित मस्जिद के सामने हंगामा होने के आसार देखते हुए पुलिस ने जुलूस का रास्ता मोड़ देने को कहा। लेकिन जुलूस में शामिल लोगों ने इनकार कर दिया। लोगों ने पुलिस बैरिकेडिंग को तोड़ते हुए जुलूस निकालने की कोशिश की। पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने 17 लोगों को गिरफ्तार किया है।

झारखंड: कई घायल
झारखंड के लोहरदगा जिले के हिरही भोक्ता बगीचा इलाके के पास जुलूस में शामिल लोगों पर धारदार हथियारों से किए गए हमले में दर्जनों लोग घायल हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कुजरा की ओर से रामनवमी की शोभायात्रा आ रही थी तभी कब्रिस्तान के पास दूसरे समुदाय के कुछ लोगों ने नारेबाजी नहीं करने के लिए कहा। लेकिन जब तक कोई कुछ समझ पाता कुछ शोभायात्रा में शामिल लोगों पर पथराव शुरू हो गया।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment