.....

मुरैना में आग से 800 बीघा की गेहूं फसल राख

 मुरैना । भिंड और ग्वालियर जिले की सीमा पर बसे मुरैना के सिलगिला गांव के खेतों में रविवार की दोपहर भीषण आग लग गई। इससे लगभग 800 बीघा में खड़ी गेहूं की पकी फसल जलकर राख हो गई। आग से ढाई करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है।

आग की सूचना मिलते ही अंचल के दौरे पर आए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पूरे अमले को लेकर गांव में पहुंच गए और पीड़ित किसानों को ढांढस बंधाया और कहा कि जल्द सर्वे कराकर नुकसान का मुआवजा किसानों को दिलाएंगे।


रविवार की दोपहर करीब 12 बजे भिंड के एंडोरी थाना क्षेत्र के कंचनपुर गांव के खेतों में आग लग गई। चिलचिलाती धूप और लपटों कारण यह हवा के साथ ऐसी फैलती गई कि मुरैना जिले के सिलगिला गांव के खेतों को भी अपनी चपेट में ले लिया।

ग्वालियर, भिंड के अलावा मालनपुर इंडस्ट्री एरिया के अलावा कई फैक्ट्रियों की फायर ब्रिगेड मशीनें बुलाई गईं। करीब 15 फायर ब्रिगेडों ने तीन घंटे से ज्यादा देर की मशक्कत में आग पर काबू किया, लेकिन तब तक आग ढाई किलोमीटर से ज्यादा क्षेत्र में खड़ी फसलों को जलाकर राख कर चुकी थी।

क्षेत्रीय सांसद व केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पोरसा क्षेत्र के दौरे पर थे। इसी दौरान उन्हें सिलगिला गांव में भीषण आग की सूचना मिली तो सारे कार्यक्रम रद कर पूर्व मंत्री रुस्तम सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष गीता हर्षाना, कलेक्टर बी कार्तिकेयन, एसपी आशुतोष बागरी, एसडीएम शिवलाल शाक्य आदि को लेकर घटनास्थल पर पहुंचे। इसी बीच मुरैना विधायक राकेश मावई भी ग्रामीणों के बीच पहुंचे तो कुछ देर बाद भिंड के कलेक्टर-एसपी भी सिलगिला गांव आ गए। सिलगिला की सरपंच इमरती देवी ने बताया कि 75 से ज्यादा किसानों की लगभग 800 बीघा में खड़ी फसल जलकर नष्ट हो गई।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment