.....

इमरान की पाक संसद 28 मार्च तक स्थगित

 पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार मुश्किर दौर से गुजर रहे हैं और पूरी संभावना थी कि विपक्षी दल आज इमरान खान सरकार के अविश्वास प्रस्ताव ला सकते हैं, लेकिन पाक संसद की कार्यवाही शुरू होते ही इमरान खान ने बड़ा खेल कर दिया। स्पीकर ने संसद की कार्यवाही को 28 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया है। इस दौरान स्पीकर ने कहा कि एक सांसद की मौत हो गई है, जिसके चलते संसद की कार्यवाही स्थगित की जाती है। वहीं पाकिस्तान की सियासत से जुड़े जानकारों का कहना है कि इमरान खान अपनी सरकार को बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा समय चाहते थे, इसलिए कार्रवाई टाल दी गई है। अब पूरे संभावना है कि इमरान खान सरकार के खिलाफ सोमवार को विपक्षी दल अविश्वास प्रस्ताव ला सकते हैं। पाक मीडिया रिपोर्ट में भी दावा किया गया है कि संसद की कार्यवाही के दौरान इमरान खान नेशनल असेंबली में अल्पमत में दिखे और उनके कई सांसद विपक्ष की बेंच पर बैठे थे।



इमरान सरकार ने दिए संकेत, जल्द हो सकते हैं चुनाव

अविश्वास प्रस्ताव के बीच पाकिस्तान के गृह मंत्री ने संकेत दिए हैं कि देश में जल्द ही चुनाव हो सकते हैं। आपको बता दें कि विपक्ष ने इमरान खान की सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए 8 मार्च को अपना पक्ष रखा था। नेशनल असेंबली में 342 सीटें हैं। इस अविश्वास प्रस्ताव को जीतने के लिए इमरान खान की सरकार को 172 सदस्यों के समर्थन की जरूरत है।

इमरान ने लगाया सांसदों की खरीद फरोख्त का आरोप

इस बीच इमरान खान का आरोप है कि विपक्ष उन्हें सत्ता से हटाने के लिए सांसदों की खरीद-फरोख्त कर रहा है। वहीं दूसरी ओर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के कई सदस्य खुद ही इमरान खान से नाराज चल रहे हैं और विपक्ष की आवाज में सुर में सुर मिला रहे हैं। इमरान के साथी सांसदों ने विपक्ष का हाथ मजबूत करने के लिए अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में खुलकर मतदान करने की अपील की है।

विपक्ष को पूरी उम्मीद, सत्ता से इमरान को हटा देंगे

उधर पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश ने गुरुवार को कहा कि अविश्वास प्रस्ताव की कार्यवाही के दौरान सदस्यों द्वारा डाले गए वोटों की गिनती नहीं करना अवमानना माना जाएगा। इस अविश्वास प्रस्ताव से पूरा विपक्ष काफी संतुष्ट है। विपक्षी नेताओं को पूरी उम्मीद है कि प्रधानमंत्री इमरान खान को कुर्सी से हटाने में कामयाब होंगे।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment