.....

कांग्रेस की पोस्टर गर्ल प्रियंका मौर्य भाजपा में शामिल, MLA अदिति सिंह भी कांग्रेस से इस्तीफा

उत्तर प्रदेश:  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीखें जैसे जैसे नजदीक आ रही है, वैसे सियासी दलों के तरकश से एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप के कई तीर छोड़े जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर नेताओं की दलबदली भी लगातार जारी है। उत्तर प्रदेश में रायबरेली सदर विधानसभा सीट से विधायक अदिति सिंह ने गुरुवार को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया। हालांकि इससे पहले वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुकी हैं, लेकिन अभी तक कांग्रेस से इस्तीफा नहीं दिया था, लेकिन आज उन्होंने कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया है। अदिति सिंह ने अपने इस्तीफे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र भेजा है। अदिति सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनका इस्तीफा स्वीकार करने का अनुरोध किया है। अदिति सिंह ने साल 2017 में मोदी लहर के बाद भी रायबरेली सदर सीट पर कांग्रेस के टिकट पर जीत हासिल की थी।

कांग्रेस की पोस्टर गर्ल प्रियंका मौर्य भाजपा में शामिल

इस बीच उत्तर प्रदेश में ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं‘ चुनावी कैंपेन चलाने वाली कांग्रेस पार्टी को भाजपा ने करारा झटका दिया है। कांग्रेस की 'पोस्टर गर्ल' प्रियंका मौर्य को लेकर जानकारी सामने आई है कि टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर अब वह भाजपा में शामिल हो गई है।

टिकट वितरण में धांधली का आरोप

कांग्रेस से टिकट न मिलने से प्रियंका मौर्य काफी नाराज थी। प्रियंका मौर्य ने कांग्रेस पर आरोप लगाया था कि टिकट वितरण की प्रक्रिया में बड़े पैमाने पर धांधली की गई है। गौरतलब है कि प्रियंका वाड्रा ने 'आई कैन फाइट अ गर्ल' कैंपेन की शुरुआत उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर की थी। इस कैंपेन के लिए कांग्रेस पार्टी ने चुनावों के मद्देनजर प्रियंका मौर्य 'पोस्टर गर्ल' बनाया था। लेकिन पोस्टर गर्ल को ही टिकट नहीं देकर पार्टी नए विवाद में फंस गई है।

प्रियंका का आरोप, मेरे नाम व चेहरे का किया इस्तेमाल

उत्तर प्रदेश में महिला कांग्रेस की उपाध्यक्ष प्रियंका मौर्य ने कहा कि कांग्रेस ने मेरे चेहरे, मेरे नाम और मेरे एक मिलियन सोशल मीडिया फॉलोअर्स का इस्तेमाल प्रचार के लिए किया, लेकिन जब टिकट देने की बात आई तो पार्टी ने किनारा कर लिया। यह अन्याय है। प्रियंका ने कहा कि मुझे टिकट नहीं मिला क्योंकि मैं एक ओबीसी (अन्य पिछड़ा वर्ग) की लड़की हूं और प्रियंका गांधी के सचिव संदीप सिंह को रिश्वत नहीं दे सकती थी।

कांग्रेस के चुनावी अभियान को बड़ा धक्का

गौरतलब है कि प्रियंका वाड्रा ने महिलाओं के वोट बैंक को अपने पक्ष में करने के लिए 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं' नाम से कैंपेन शुरू किया है। इसमें प्रियंका मौर्य को महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, लेकिन अब प्रियंका मौर्य भाजपा में जाने की खबरों से कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment