.....

दिल्ली में जल्द हट सकती हैं कोरोना पाबंदियां, CM केजरीवाल ने दिए संकेत

 भारत में कोरोना की तीसरी लहर का कहर जारी है। धीरे-धीरे यह लहर चरम पर पहुंच रही है और उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही केस घटने लगेंगे। लेकिन जब तक राहत नहीं मिलती, तब तक नियमों का पालन और सावधानी बहुत जरूरी है। यही कारण है कि विभिन्न राज्यों ने अघोषित लॉकडाउन (Lockdown Latest News) लगा रखा है। अधिकांश राज्यों में नाइट कर्फ्यू है, कहीं-कहीं वीकेंड कर्फ्यू लगाया गया है, कुछ राज्यों ने इसे संडे शटडाउन का नाम दिया है, स्कूल बंद है, ऑफिसेस बंद हैं। दिल्ली से ताजा खबर है कि यहां मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना नियमों में छूट के संकेत दिए हैं। केजरीवाल ने मंगलवार को कहा, जल्द ही हम (कोविड-19) प्रतिबंधों को हटाने और आपके जीवन को सामान्य स्थिति में लाने का प्रयास करेंगे... उस दिशा में सभी प्रयास करेंगे।


वैक्सीन नहीं, तो सार्वजनिक स्थानों पर एंट्री नहीं, यहां आज से लागू हुआ यह नियम

इस बीच, ताजा खबर असम से आ रही है। यहां उन लोगों को सार्वजनिक स्थानों यानी पब्लिक प्लेसेस पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा, जिन्होंने कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है। असम में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा के नेतृत्व वाली सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कड़े प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया। गैर-टीकाकरण वाले लोगों के सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया। हां, ऐसे लोग अस्पताल जा सकते हैं। नए आदेश के अनुसार, नागरिकों को सार्वजनिक स्थानों पर जाते समय टीकाकरण का प्रमाण साथ रखने को कहा गया है। ये पाबंदियां 25 जनवरी को सुबह छह बजे से लागू होंगी।

बिहार: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोषणा की कि मौजूदा कोरोना प्रतिबंधों को 6 फरवरी तक बढ़ा दिया जाएगा। सीओवीआईडी ​​​​-19 मामलों में वृद्धि के कारण, राज्य सरकार ने 4 जनवरी से प्रतिबंध लगाए थे। प्रतिबंध 21 जनवरी को समाप्त होने वाले थे। COVID-19 की स्थिति की समीक्षा की गई। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि स्थिति को देखते हुए वर्तमान में लागू सभी प्रतिबंधों को 6 फरवरी 2022 तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। आप सभी से अनुरोध है कि विशेष सावधानी बरतें और सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करें।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment