.....

BJP में शामिल हुए आरपीएन सिंह, स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ लड़ना तय

 दिग्गज कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह (RPN Singh) ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और चंद घंटों बाद ही भाजपा में शामिल हो गए। खबर यह भी है कि भाजपा उन्हें पडरौना सीट से टिकट दे सकती है। खास बात यह है कि चुनाव से ऐन पहले भाजपा का साथ छोड़कर समाजवादी खेमे में जाने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य पडरौना सीट से भी प्रत्याशी हैं। भाजपा अब RPN सिंह को स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ खड़ा कर सकती है। RPN Singh और उनके परिवार का इलाके में दबदबा है। RPN सिंह पडरौना राजघराने से हैंं। RPN Singh यूपीए सरकार में मंत्री रहे। कांग्रेस ने उन्हें झारखंड का प्रभारी भी बनाया था।


कांग्रेस छोड़ने का ऐलान खुद RPN Singh ने अपने ट्विटर हैंडल पर किया। पढ़िए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे इस्तीफे में आरपीएन सिंह ने क्या लिखा। आरपीएन सिंह 1996 और 2009 के बीच उत्तर प्रदेश के पडरौना निर्वाचन क्षेत्र से सांसद थे। बाद में उन्होंने लोकसभा चुनाव जीता।

कौन हैं आरपीएन सिंह?

25 अप्रैल 1964 को जन्मे रतनजीत प्रताप नारायण (RPN) सिंह एक शाही परिवार से हैं। उनके पिता भी राजनीति में थे और इंदिरा गांधी सरकार में मंत्री रहे। आरपीएन सिंह ने एआईसीसी के सचिव सहित सोनिया गांधी के नेतृत्व वाली पार्टी में विभिन्न पदों पर कार्य किया है। 2009 के लोकसभा चुनावों में कुशीनगर से चुने जाने के बाद उन्हें केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया। UPA-2 के कार्यकाल के दौरान उन्होंने सड़क, परिवहन और राजमार्ग, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस और कॉर्पोरेट मामलों और गृह मामलों में राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया। हालांकि, उन्हें कुशीनगर से 2014 और 2019 में लगातार आम चुनाव हारकर एक झटका लगा।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment