.....

वित्‍त मंत्रि ने आर्थिक सर्वेक्षण 2022 संसद में पेश किया

 संसद का बजट सत्र सोमवार से शुरू हो गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के दोनों सदनों को संबोधित किया। राष्ट्रपति ने बताया कि इस तरह उनकी सरकार ने अलग-अलग क्षेत्रों में उल्ल्खनीय कार्य किए हैं। देश में जल्द ही 5जी तकनीक आएगी। राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद आर्थिक सर्वेक्षण 2022 पेश किया गया। इससे देश की आर्थिक सेहत का अंदाजा लगेगा। इसके बाद 1 फरवरी को आम बजट (Budge 2022) पेश किया जाएगा। मानसून सत्र की तरह ही इस सत्र से पहले भी इजरायली स्पाईवेयर पेगासस का जिन्न फिर बाहर आ गया है। पंजाब और उत्तर प्रदेश समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, इसलिए किसानों का मुद्दा भी गरमाया हुआ है। लिहाजा बजट सत्र में भी मानसून सत्र की तरह पेगासस से जासूसी, किसानों की समस्या और पूर्वी लद्दाख में चीनी घुसपैठ का मुद्दा छाए रहने की संभावना है।


पीएम मोदी ने बताया बजट सत्र का महत्व

बजट सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, यह सच है कि चुनाव सत्रों और चर्चाओं को प्रभावित करते हैं। लेकिन मैं सभी सांसदों से अनुरोध करता हूं कि चुनाव चलेंगे लेकिन बजट सत्र पूरे साल का खाका खींचता है। हम इस सत्र को जितना अधिक फलदायी बनाएंगे, देश को आर्थिक ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए शेष वर्ष के लिए बेहतर अवसर होगा।

राष्ट्रपति के अभिभाषण की प्रमुख बातें

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के दोनों सदनों को संबोधित करते हुए कहा, मैं उन लाखों स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करता हूं जिन्होंने अपने कर्तव्यों को प्राथमिकता दी और भारत को उसके अधिकार दिलाने में मदद की। स्वतंत्रता के 75 वर्षों में भारत की विकास यात्रा में योगदान देने वाले व्यक्तित्वों को भी मैं सम्मानपूर्वक याद करता हूं।

इस वर्ष सरकार ने 23 जनवरी नेताजी की जयंती से गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत की है। मेरी सरकार का मानना ​​है कि देश के सुरक्षित भविष्य के लिए अतीत को याद रखना और उससे सीखना बहुत जरूरी है।

COVID के कारण कई लोगों की जान चली गई। ऐसी परिस्थितियों में भी हमारे केंद्र व राज्यों की टीमों ने, डॉक्टरों, नर्सों, वैज्ञानिकों ने एक टीम के रूप में काम किया... मैं स्वास्थ्य देखभाल करने वाले अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं का आभारी हूं।

#COVID19 के खिलाफ लड़ाई में भारत की क्षमता टीकाकरण कार्यक्रम में स्पष्ट हुई। एक साल से भी कम समय में हमने वैक्सीन की 150 करोड़ से अधिक खुराक देने का रिकॉर्ड बनाया है। आज, हम अधिकतम मात्रा में खुराक देने के मामले में दुनिया के अग्रणी देशों में से एक हैं।

कांग्रेस इन मुद्दों पर करेगी हंगामा

मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस घोषणा कर चुकी है कि वह उपरोक्त मुद्दों के अलावा कोरोना पीड़ित परिवारों को राहत और एयर इंडिया की बिक्री जैसे मुद्दों को उठाने के लिए समान विचारधारा वाली पार्टियों से तालमेल करेगी। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने रविवार को स्पीकर ओम बिरला को लिखे पत्र में केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव की प्रक्रिया शुरू करने मांग करके अपने इरादों के संकेत दे भी दिए। इसमें उन्होंने कहा कि सरकार ने सदन में हमेशा कहा कि उसका पेगासस से कोई लेना-देना नहीं है और उसने कभी भी एनएसओ ग्रुप से स्पाईवेयर नहीं खरीदा। न्यूयार्क टाइम्स की ताजा रिपोर्ट से पता चलता है कि मोदी सरकार ने संसद और सुप्रीम कोर्ट को गुमराह किया और देश के लोगों से झूठ बोला।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment