.....

मध्‍यप्रदेश में रजिस्ट्री के लिए गवाह और नोटरी की जरूरत नहीं

 भोपाल : जमीन या फ्लैट की खरीदारी में होने वाली धोखाधड़ी को रोकने के लिए प्रदेश सरकार नई व्यवस्था बना रही है। संपदा-2 सॉफ्टवेयर में बदलाव करने की तैयारी चल रही है। इस व्यवस्था से न केवल रजिस्ट्री की प्रक्रिया आसान होगी, बल्कि मोबाइल पर ही ये पता चल जाएगा कि शहर के किस इलाके में प्रॉपर्टी खरीदना आसान और फायदेमंद होगा। साथ ही प्रॉपर्टी के आसपास ऐसे कौन से प्रोजेक्ट हैं, जो सरकार ने स्वीकृत किए हैं। जो प्रॉपर्टी आप खरीदना चाहते हैं उसके आसपास कितनी रजिस्ट्री हो रही हैं और कितनी स्टाम्प ड्यूटी चुकाना पड़ेगी। मध्यप्रदेश देश में ऐसा प्रयोग करने वाला पहला राज्य होगा। इस नई व्यवस्था को लागू होने में करीब एक साल का समय लगेगा। पंजीयन विभाग के अधिकारियों ने जानकारी दी है। इसके लिए लैंड एंड रिकॉर्ड्स डिपार्टमेंट के खसरों को लिंक किया जा रहा है।



मोबाइल एप से कर सकेंगे पता

लोगों की सुविधा के लिए एक मोबाइल एप भी तैयार किया जा रहा है। इस एप के जरिए आप अपने मोबाइल पर पता लगा सकेंगे कि जिस जगह पर आप खड़े हैं, उस जमीन की वास्तविक मूल्य क्या है। साथ ही यह भी जानकारी मिलेगी कि यह जमीन या फ्लैट विवादित तो नहीं है। 

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment