.....

खंडवा उपचुनाव मे कांग्रेस के टिकट चयन में पेंच

 इंदौर। खंडवा लोकसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस में उठापटक थम नहीं रही है। इस सीट से पूर्व पीसीसी चीफ अरूण यादव की मजबूत दांवेदारी थी मगर चार विधानसभा सीटों पर खुले विरोध के चलते संगठन ने उनके नाम पर चुप्पी साध ली। उधर बुरहानपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह ठाकुर शेरा खुल कर मैदान में आ गए। भोपाल में अपनी पत्नी जयश्री ठाकुर के साथ वे पार्टी नेताओं से मिले और अपनी पत्नी जयश्री सुरेंद्र ठाकुर को खंडवा से उम्मीदवार बनाए जाने की बात रखी। इसके बाद मीडिया से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि खंडवा से जयश्री ठाकुर का टिकट पक्का है. अरूण यादव को पार्टी टिकट नहीं दे रही। सर्वे चल रहा है और सच्चा सर्वे हुआ कांग्रेस के छोटे से छोटे कार्यकर्ता से भी पूछा जाएंगा तो एक ही नाम जयश्री ठाकुर का सामने आएंगा। शेरा की आज प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से मुलाकात होगी।



अरूण से मजबूत है हमारी दांवेदारी-

टिकट का पक्का दांवा करते हुए शेरा ने कहा कि हम पॉजिटिव सोच के साथ चल रहे है। टिकट हमारा ही तय होगा। अरूण यादव के संबंध में उनका कहना था कि वे दो चुनाव हार चुके है। वैसे भी वह खरगोन के मूल निवासी है लिहाजा चुनाव लड़ने का असल अधिकार हमारे परिवार का ही है। यादव द्वारा टिकट के लिए बनाए जा रहे दबाव के संबंध में उन्होंने कहा कि डेमेक्रेसी की खूबसुरती यहीं है कि कोई भी चुनाव लड़ सकता है चाहे अरूण यादव ही क्यों ना हो। शेरा ने फिर दांवा किया कि पार्टी उन्हें टिकट नहीं दे रही। अगर टिकट तय होगा तो यादव भी उनके साथ रहेंगे और चुनाव में काम करेंगे।

हमारे परिवार की कर्मभूमि है खंडवा-

शेरा ने कहा कि हमारा परिवार पचास साल से राजनीति में है और खंडवा हमारी कर्मभूमि है। यहां का बच्चा बच्चा हमारे परिवार को जानता है। बड़े भाई ठाकुर शिवकुमार सिंह 80 में और ठाकुर महैंद्र सिंह 90 में खंडवा लोकसभा से सांसद चुने गए थे। चुनाव को लेकर हमारी तैयारी पहले से है और क्षेत्र की जनता का आर्शिवाद में हमारे साथ है। 

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment