.....

उद्योगपति के साथ बैठक में प्रदेश में रोजगार के अवसर बढ़ाना आवश्यक – मुख्यमंत्री

 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इंदौर में विकसित होने वाले फर्नीचर और खिलौना क्लस्टर में राज्य शासन हरसंभव सहयोग प्रदान करेगी। क्लस्टर में स्थापित इकाइयों से प्रदेश में रोजगार की संभावनाएँ बढ़ेंगी। यह आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए आवश्यक है। इंदौर में फर्नीचर और खिलौना क्लस्टर विकसित करना, उद्योगपतियों की सराहनीय पहल है। मुख्यमंत्री चौहान मंत्रालय में इंदौर फर्नीचर क्लस्टर तथा खिलौना क्लस्टर के संबंध में भेंट करने आए उद्योगपतियों से चर्चा कर रहे थे। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, आयुक्त उद्योग एवं सचिव सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विवेक पोरवाल उपस्थित थे।


इंदौर फर्नीचर क्लस्टर

इंदौर के बेटमा में 154 हेक्टेयर क्षेत्रफल में 600 करोड़ रूपये की लागत से फर्नीचर क्लस्टर विकसित किया जा रहा है। क्लस्टर में 171 निवेशकों द्वारा अपनी इकाइयाँ स्थापित की जाएंगी। इससे लगभग 5200 लोगों को रोजगार मिलेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने क्लस्टर के लिए नामांतरण के आधार पर अलॉटमेंट, क्लस्टर को तीन फेज में विकास की अनुमति और विद्युत सब स्टेशन, एक एम.एल.डी. पानी तथा 45 मीटर सड़क बनाकर देने की प्रतिनिधियों की माँग पर सहमति प्रदान की।

इंदौर खिलौना क्लस्टर

इंदौर में राऊ रंगवासा स्थित औद्योगिक क्षेत्र में बनने वाले खिलौना क्लस्टर में 70 करोड़ रूपये के निवेश की 20 इकाइयाँ स्थापित करने की योजना है। इससे लगभग 4 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। प्रथम वर्ष का अनुमानित उत्पादन लगभग 250 करोड़ रूपए का है। प्रतिनिधि मंडल ने क्लस्टर के लिए शासन द्वारा क्षेत्र को विकसित कर विभागीय दर पर सदस्यों को सीधे आवंटित करने संबंधी माँग रखी। मुख्यमंत्री चौहान ने इसकी सहमति देते हुए भवन निर्माण के लिए दो एफएआर की स्वीकृति भी प्रदान की।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment