.....

"मध्य प्रदेश के उच्च न्यायालय, जबलपुर और इंदौर-ग्वालियर स्थित बेंच में अदालती कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग"

 कोर्ट रूम की कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग दुनिया भर में एक बहुत ही बहस का विषय रहा है, लेकिन ज्यादातर देशों में न्यायिक प्रतिष्ठानों के साथ, विशेष रूप से लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं के साथ, इसी के पक्ष में फैसला सुनाया गया है। सर्वोच्च न्यायालय ने स्वप्निल त्रिपाठी मामले में निर्णय कार्यवाही का सीधा प्रसारण करके अदालत कक्ष में और अधिक पारदर्शिता की दिशा में एक कदम की मुखर वकालत की है। निर्णय को न केवल इसकी दूरदर्शिता के लिए बल्कि उस शोध और विचार-विमर्श के लिए भी एक मील का पत्थर माना जा सकता है।



मध्यप्रदेश के उच्च न्यायालय, जबलपुर ने उच्च न्यायालय की अदालती कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग के लिए पहल की है और लाइव स्ट्रीमिंग का पायलट 21 जून 2021 से मुख्य न्यायाधीश की अदालत में शुरू हुआ एवं 28 जून 2021 से मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश श्री न्यायमूर्ति मोहम्मद रफीक की खंडपीठ-I से उच्च न्यायालय की अदालती कार्यवाही की अंतिम लाइव स्ट्रीमिंग शुरू की गई है। उच्च न्यायालय की वेबसाइट के माध्यम से डिजिटल प्लेटफॉर्म "यूट्यूब" का उपयोग करते हुए और सभी संबंधित हितधारकों को इसका लाभ देते हुए अदालती कार्यवाही की लाइव स्ट्रीमिंग उपलब्ध है। 15 जुलाई 2021 की स्थिति में मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय जबलपुर एवं न्यायपीठ इंदौर और ग्वालियर में कुल 10 न्यायालयों की कार्यवाही का सीधा प्रसारण किया जा रहा है। साथ ही योजना बनाई गई है कि जुलाई, 2021 माह के अंत तक समस्त न्यायालयों की न्यायालय कार्यवाही मध्यप्रदेश, जबलपुर के उच्च न्यायालय और इंदौर-ग्वालियर स्थित खंडपीठ का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment