.....

जहाँ भी गिरे, जब भी गिरे, वर्षा का पानी इकट्ठा करें

 भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 'जल शक्ति अभियान : कैच द रेन' का मध्यप्रदेश के सभी जिलों में प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व जल दिवस पर इस अभियान की शुरूआत कर कहा कि भारत की आत्म-निर्भरता जल संसाधनों और जल सम्पर्क पर निर्भर है। हमारे पूर्वज हमारे लिए जल छोड़कर गए, अब हमारी जिम्मेवारी है कि हम आने वाली पीढ़ियों के लिए जल का संरक्षण करें। भारत में वर्षा का अधिकतर जल बह जाता है। हम जितना बारिश का पानी बचाएंगे, उतना हमारी भू-जल पर निर्भरता कम होगी। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के आव्हान पर हमें वर्षा जल के संग्रहण के लिए हरसंभव प्रयास करना चाहिए। 



मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 'जल शक्ति अभियान : कैच दरेन' कार्यक्रम के तहत वर्षा जल संचयन अभियान देश भर में ग्रामीण और शहरी इलाकों में चलाया जाएगा और इसका नारा होगा 'जहाँ भी गिरे, जब भी गिरे, वर्षा का पानी इकट्ठा करें'।


छोटी नदियों एवं जल स्त्रोतों को पुनर्जीवित करें


मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि जल संरचनाओं एवं उसके आस-पास किए गए अतिक्रमणों को हटवाएँ और उसके बाद इनकी मरम्मत एवं जीर्णोद्धार का कार्य किया जाए। समुदाय को साथ लेकर छोटी नदियों एवं जल स्त्रोतों को पुनर्जीवित किया जाए।

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment