भारत को दिसंबर में मिल सकती हैं ? तैयार हो सकते है वैक्सीन की 10 करोड़ डोज


कोरोना वैक्सीन के मामले में एक खुशखबरी है। ऐस्ट्राजेनेका ने कहा है कि वह उत्पादन क्षमता बढ़ाएगी और दिसंबर तक 10 करोड़ डोज बना दी जाएंगी जिससे कि पूरे भारत में टीकाकरण शुरू हो सके। सीरम इंस्टिट्यूट ने भी कहा है कि ऐस्ट्राजेनेका से 100 करोड़ डोज बनाने का समझौता किया गया है। अदार पूनावाला का कहना है कि शुरुआत में ही भारत को डोज मिल जाएंगी। रिपोर्ट के मुताबिक देश की ज्यादातर जनसंख्या को वैक्सीन देने के लिए भारत को 170 करोड़ डोज की जरूरत होगी। भारतीय कंपनियों की क्षमता 240 करोड़ डोज बनाने की है। टीकाकरण के लिए जरूरी पर्याप्त वाइल, स्टोपर्स, सीरिंज, गेज, अल्कोहल स्वाब बनाने की क्षमता भी भारत के पास है। लेकिन, कोल्ड स्टोरेज और रेफ्रीजरेटेड वैन की संख्या कम होने के कारण एक साल में 55 से 60 करोड़ डोज ही लग पाएंगे। बता दें कि ज्यादातर कंपनियों की वैक्सीन को स्टोर करने के लिए 2-3 डिग्री से नीचे के तापमान की जरूरत है।

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment