UP के राज्यसभा उपचुनाव में BJP का मुस्लिम कार्ड, जफर के बहाने मुस्लिम विरोधी छवि को करेगी खारिज

 


लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी ने सैयद जफर इस्लाम को उत्तर प्रदेश के राज्यसभा उपचुनाव में अपना उम्मीदवार घोषित किया है। समाजवादी पार्टी के निलंबित अमर सिंह के निधन से रिक्त सीट पर मध्य प्रदेश के जफर को उतारकर भाजपा ने विपक्ष द्वारा बनायी जा रही मुस्लिम विरोधी छवि को समाप्त करने की कोशिश की है।

उत्तर प्रदेश से प्रत्याशी तय होने के बाद जफर का निर्विरोध निर्वाचन भी पक्का है। नामांकन पत्र जमा करने की अंतिम तिथि एक सितंबर है। दो को नामांकन पत्रों की जांच के बाद चार सितंबर को नाम वापसी होगी। विपक्ष की ओर से शायद ही कोई पर्चा भरा जाए। ऐसे में चार सितंबर को ही जफर को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया जाएगा।

जफर प्रदेश से राज्यसभा में भाजपा कोटे के 17 वें सदस्य होंगे। राम मंदिर निर्माण जैसे मुद्दों पर गर्माए माहौल में भाजपा का उत्तर प्रदेश के बाहर के किसी मुस्लिम को राज्यसभा भेजने का फैसला चौंकाने वाला लग सकता है परंतु ऐसा पहली बार नहीं है। मुस्लिम प्रतिनिधित्व के लिए भाजपा राज्यसभा और विधान परिषद में मुस्लिमों को भेजती रही है। 

आने वाले विधानसभा चुनाव में जब मुसलमान वोटों के लिए सपा, बसपा, कांग्रेस के अलावा छोटे दलों में होड़ मची हो तब भाजपा नेतृत्व का फैसला एक तीर से कई निशाने साधने जैसा है। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष जावेद मलिक का कहना है कि विपक्ष मुस्लिम वोटों के सौदागर बने रहते है परंतु भाजपा ने सैयद जफर इस्लाम को राज्यसभा भेजने का निर्णय लेकर विपक्ष को आइना दिखाया है।

उर्दू अकादमी के सदस्य बासित अली का कहना है कि पार्टी ने सबका साथ सबका विकास के साथ सबका विश्वास जीतने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। बासित अली का कहना है कि समाजवादी पार्टी केवल अपने परिवारीजन को ही उच्च सदन में भेजने का काम करती है। बसपा मेंं बोली लगायी जाती है। जफर की उम्मीदवारी से भाजपा विरोधियों को सबक मिलेगा।

 वहीं जानकारों का कहना है कि जफर राज्यसभा सदस्य बनते है तो भाजपा इसका लाभ बिहार और पश्चिमी बंगाल के चुनाव में भी लेने की कोशिश करेगी। पार्टी का मुख्तार अब्बास नकवी के साथ जफर इस्लाम को तरजीह देने से उत्तर प्रदेश के उदारवादी मुस्लिमों में भी काफी बड़ा संदेश जाएगा। 

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment