केंद्र की अनुमति के बाद भी 5 राज्यों में नहीं खोले गए पूजा स्थल


केंद्र सरकार की अनुमति के बावजूद कोरोना वायरस के चलते गंभीर हो रहे हालातों को देखते हुए पांच राज्यों ने सोमवार को अपने यहां ASI के तहत आने वाले पूजा स्थलों को नहीं खोला है। ये राज्य हैं महाराष्ट्र, तमिलनाडु, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर और ओडिशा। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने रविवार को भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) के तहत संरक्षित 820 पूजा स्थलों को 8 जून यानी सोमवार से खोलने की अनुमति दे दी थी। लेकिन हालात के मद्देनजर इस बारे में अंतिम फैसला लेने का अधिकार स्थानीय प्रशासन पर छोड़ दिया था।


अधिकारियों के मुताबिक इन संरक्षित स्मारकों में तमिलनाडु में 75, महाराष्ट्र में 65, ओडिशा में 46, राजस्थान में 28 और जम्मू-कश्मीर में 9 पूजा स्थल शामिल हैं। इन राज्यों में अब भी कोरोना से हालात सुधरे नहीं हैं, इसलिए स्थानीय प्रशासन इन पूजा स्थलों को अभी बंद रखने का ही फैसला किया गया है।
संस्कृति मंत्रालय ने जिन स्मारकों को खोलने की अनुमति दी थी, उनमें आगरा के 14 स्मारक भी शामिल हैं। लेकिन स्थानीय प्रशासन ने इन्हें भी अभी नहीं खोलने का निर्णय किया है। इनमें ताज महल के अंदर स्थित मस्जिद के साथ ही उसके आसपास की फतेहपुरी मस्जिद और काली मस्जिद भी शामिल है।
अधिकारियों के अनुसार ओडिशा में पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर, लिंगराज, मंदिर, मुक्तेश्वर मंदिर, अनंत वासुदेव मंदिर, प्राचीन शैव केंद्रों और हीरापुर स्थित 64 योगिनी पीठ समेत अन्य कई स्मारकों को 30 जून तक बंद रखने का फैसला किया गया है। राज्य में 30 जून तक लॉकडाउन भी लागू है।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment