निजी व सरकारी स्कूलों में एक मई से सात जून तक रहेगा ग्रीष्मावकाश


भोपाल ! प्रदेश के निजी व सरकारी स्कूलों में एक मई से सात जून तक ग्रीष्मावकाश रहेगा। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने आदेश जारी करते हुए स्कूलों में ग्रीष्मावकाश की अवधि में कटौती की है। विभाग ने आदेश दिया है कि शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए एक मई से सात जून तक अवकाश रहेगा। हालांकि पिछले साल शिक्षकों के लिए एक मई से नौ जून और विद्यार्थियों के लिए एक मई से 16 जून तक ग्रीष्मावकाश था।


विभाग के उप सचिव केके द्विवेदी ने निर्देश दिए हैं कि ग्रीष्मावकाश के बीच शिक्षक यदि विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं प्रारंभ करना चाहते हैं तो उन्हें अनुमति है। जो विद्यार्थी स्मार्ट फोन न होने या अन्य किसी कारण से कक्षाओं में शामिल नहीं हो पाएं हों तो शिक्षक स्कूल खुलने पर अतिरिक्त कक्षाएं लगाकर उन्हें पढ़ाएंगे। स्कूलों द्वारा ऑनलाइन कक्षाएं आयोजित करने पर कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा।
प्रोफेसरों के ग्रीष्मकालीन अवकाश निरस्त
प्रदेश के सरकारी कॉलेजों के प्रोफेसरों के ग्रीष्मकालीन अवकाश निरस्त कर दिए गए हैं। उच्च शिक्षा विभाग ने इस संबंध में गुरुवार को आदेश जारी कर दिए हैं। आदेश के मुताबिक, उच्च शिक्षा विभाग में प्रदेश के निजी और सरकारी कॉलेजों में 18 मई से 26 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित किए गए थे, लेकिन पिछले दिनों राजभवन में हुई बैठक में निर्णय लिया गया है कि तीन मई को लॉकडाउन समाप्त होने के बाद प्रवेश प्रक्रिया और कॉलेजों में परीक्षाएं शुरू होंगी। इस वजह से प्रोफेसरों के ग्रीष्मकालीन अवकाश निरस्त किए जा रहे हैं। हालांकि इस दौरान प्रोफेसरों को जरूरत होने पर अर्जित अवकाश की पात्रता रहेगी। वहीं, क्रीड़ा अधिकारी और लाइब्रेरियन के अवकाश को लेकर संस्था प्रमुख निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र रहेंगे।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment