अनाज जिनका राशनकार्ड नहीं, उनको भी मुफ्त मिलेगा: CM


भोपाल ! मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने एक बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने घोषणा की है कि जिनका नाम राशन कार्ड नहीं है, उनको भी मुफ्त में अनाज दिया जाएगा. प्रदेश में राशन या भोजन की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी. थोड़े दिन की बात है, थोड़े दिनों के बाद कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न यह संकट खत्म हो जाएगा.


सीएम शिवराज भोपाल में हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों से मिलने पहुंचे थे. उन्होंने कहा, ‘सारा प्रदेश कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ रहा है. जब सारा देश लड़ रहा है तो मैं घर कैसे बैठ सकता हूं.इंदौर को लेकर बोले शिवराज ने कहा कि इंदौर एक जागृत शहर है, कोरोना वायरस से निपटने के लिए सबको मिलकर लड़ना होगा. इंदौर शहर में पूरा लॉकडाउन किया गया है. जरूरत का सामान घर तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाएगी.
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मध्य प्रदेश की सरकार ने इंदौर में 30 मार्च से तीन दिन के लिए पूरी तरह से लॉकडाउन घोषित कर दिया है. इस दौरान अब तक जरूरी वस्तुओं की दुकानें भी नहीं खुलेंगी. यानी किराना, सब्जी और दूध जैसी चीजें भी इन तीन दिनों तक नहीं मिलेंगे. इसके सा‌थ ही पेट्रोल पंप भी बंद रखे जाएंगे.
शासकीय महात्मा गांधी स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय की डीन ज्योति बिंदल ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के नए मरीजों में इंदौर के 7 मरीज और पड़ोस के उज्जैन का एक मरीज शामिल है. पिछले 24 घंटे में यहां कोरोना वायरस संक्रमित किसी मरीज की मौत के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि वह पूरा रिकॉर्ड जांचने के बाद ही इस बारे में कोई टिप्पणी कर सकेंगी.
स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि अब तक मिली रिपोर्टों के मुताबिक सूबे में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों में इंदौर के 27, जबलपुर के आठ, उज्जैन के पांच, भोपाल के तीन और शिवपुरी एवं ग्वालियर के दो-दो मरीज शामिल हैं.

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment