.....

‘क्या वे ही आतंकी संगठन बना सकते हैं, हम नहीं.. ’ बयान के बाद सुरेंद्रनाथ पर एफआईआर



भाजपा के पूर्व विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह मम्मा की बेटी भारती सिंह तो मंगलवार घर लौट आईं, लेकिन मम्मा के एक बयान ने नया विवाद खड़ा कर दिया है। उन्होंने मीडिया से चर्चा में यहां तक कह दिया कि क्या आतंकी संगठन केवल वे ही बना सकते हैं, क्या हम लोग नहीं बना सकते। उनके इस बयान के बाद हबीबगंज पुलिस ने उनके खिलाफ उपद्रव के लिए लोगों को भड़काने का मामला दर्ज किया है। प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद से मम्मा पर यह पांचवी एफआईआर है।
सुरेंद्रनाथ सिंह ने कहा है कि मेरी बेटी का धर्म परिवर्तन कराने का दम किसी में नहीं है। जो भी उनके आड़े आएगा उसका संपूर्ण विनाश होगा। उन्होंने कहा है कि हुक्का लाउंज में नशा परोस कर हमारी नस्ल खराब की जा रही है। शहर के हुक्का लाउंज बंद होना चाहिए। यदि बुधवार को हुक्का लाउंज खुले मिले तो एक्शन होगा। हुक्का लाउंज लव जिहाद को बढ़ावा दे रहे हैं।
पारिवारिक विवाद को राजनीतिक रंग न दें : भारती
वन स्टॉप क्राइसिस सेंटर गौरवी से घर पहुंची भारती, बोलीं- गुस्से में आकर बनाया था वीडियो : इधर, भारती के कोर्ट में बयान दर्ज कराने के बाद पुलिस ने उसे परिजनों को सौंप दिया। कोर्ट में भारती ने अपने बयान में बताया कि वह अपने परिजनों के व्यवहार से दुखी हाेकर घर से चली गई थी। उसने गाैरवी सखी वन स्टाॅप क्राइसिस और महिला थाना प्रभारी के द्वारा की गई काउंसलिंग के दाैरान बोला कि पारिवारिक विवाद काे राजनीतिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए। भोपाल पुलिस सोमवार को भारती को जलगांव से लेकर आई थी। उसे गौरवी सखी वन स्टाॅप क्राइसिस सेंटर में रखा गया था। अपने बयान में भारती ने कहा कि वह आत्मनिर्भर हाेकर नाैकरी करना चाहती है, लेकिन परिजन इसकी इजाजत नहीं देते। उन्होंने बताया कि वे मां से बहुत ज्यादा भावनात्मक रूप से जुड़ी है यदि कोई उन्हें कुछ कहता है तो मुझे बर्दाश्त नहीं हाेता। उन्होंने बताया कि वे जिसके साथ गई थीं, वह केवल दोस्त है। उसके साथ वे जलगांव भी गई। उनके दोस्त ने किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ नहीं की। न उन्होंने शादी की है। परिवार के खिलाफ वीडियो जारी करने के मामले में भी उन्होंने कहा कि वे तनाव में थी, गुस्से में आकर उन्होंने वीडियो बनाया। उन्हें अपने परिजनों से किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं है। वे वयस्क है हर बात का निर्णय ले सकती हैं। उनके घर से जाने के मुद्दे काे बेवजह हाईलाइट किया जा रहा है।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment