.....

दाती महाराज पूछताछ में फूट-फूटकर रोया, कहा- मैं किसी से संबंध ही नहीं बना सकता


दाती महाराज पर लगे दुष्कर्म के आरोप की जांच कर रही अपराध शाखा ने शुक्रवार को बाबा से दोबारा 12 घंटे तक पूछताछ की।  
सुबह 10 बजे जांच टीम द्वारा एक के बाद एक सवाल पूछे जाने का सिलसिला शुरू होते ही बाबा घबरा गया और संयुक्त पुलिस आयुक्त के सामने ही फूट-फूटकर रोने लगा। 
 हालांकि, जांच टीम ने उसे चुप कराया, पानी पिलाया और शांत कराने के बाद उससे फिर से पूछताछ शुरू की, जो देर रात करीब नौ बजे तक चली। 
 संयुक्त पुलिस आयुक्त शुक्रवार को बाबा से पूछताछ करने खुद ही पहुंचे थे।  लगातार करीब 12 घंटे की पूछताछ के दौरान बाबा से किए गए सवाल जवाब की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई गई।
 जांच से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि संयुक्त पुलिस आयुक्त ने बाबा के फूट-फूट कर रोने पर पहले तो अपनी टीम से उसे चुप कराने को कहा। बाद में उसके  वकीलों से भी उसे समझाने को कहा। 
 कई दिनों से चल रही पूछताछ के बावजूद पुलिस के कुछ सवालों का दाती महाराज और उनके भाई सही जवाब नहीं दे रहे थे। 

 दाती महाराज ने फतेहपुर स्थित अपने आश्रम में बुधवार को मीडिया के सामने अपनी बात रखी थी। तब उन्होंने आश्रम में आने वाले चार लोगों सचिन , नवीन , अभिषेक व जगत पर आरोप लगाते हुए कहा था कि इन्होंने युवती के पिता के साथ मिलकर साजिश रचते हुए उन पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था।

 दाती महाराज ने कहा था कि इन लोगों के बीच फोन पर हुई बातचीत की जांच की जाए तो इस षड्यंत्र का खुलासा हो जाएगा।

 बाबा ने कहा था कि इन लोगों से करीब 32 करोड़ रुपये को लेकर कुछ विवाद चल रहा था। दरअसल, बाबा का आरोप है कि इस विवाद को लेकर ही उन्हें बदनाम करने की नीयत से यह पूरा षड्यंत्र रचा गया है। 

 पुलिस अब पूरे मामले की जांच करेगी। इस कारण पुलिस ने बाबा द्वारा बताए गए तीनों लोगों को नोटिस देते हुए सोमवार को पूछताछ के लिए बुलाया है।

 इसके साथ ही पुलिस अब आश्रम में आने वाले चंदे की भी जांच करेगी। यह करोड़ों रुपये का यह चंदा किसने और कब दिया था। इसका पूरा ब्योरा पुलिस ने दाती महाराज से मांगा है। 

 जांच कर रही टीम के सूत्रों का कहना है कि दाती महाराज और उनके तीनों भाइयों को पुलिस ने पूछताछ के लिए सोमवारको भी बुलाया है। पुलिस के अनुसार, बाबा के साथ ही उन लोगों को भी पूछताछ के लिए बुलाया है, जिन पर बाबा ने अपने खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगाया था। 

पूछताछ के दौरान दाती महाराज ने पुलिस को बताया था कि वह नागा बाबा हैं और वह किसी के साथ संबंध नहीं बना सकते। उन्होंने कहा कि आरोप गलत है। 

उसे साजिश के तहत फंसाया गया है। वह ऐसा कर ही नहीं सकते हैं। ऐसे में यह माना जा रहा है कि पुलिस दाती महाराज की जांच करा सकती है। 

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment