.....

शैलजा-निखिल के बीच हुए थे 3300 कॉल, मोबाइल ने खोला मर्डर मिस्ट्री का राज

नई दिल्ली : दिल्ली में मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा द्विवेदी की हत्या के आरोपी मेजर निखिल हांडा को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
 पूछताछ के दौरान कई हैरान करने वाले सच सामने आए। इसमें प्रेम, धोखा, साजिश और आखिर हत्या ने तीन जिंदगियां बर्बाद कर दीं। 
जानकारी के मुताबिक, मेजर निखिल और मेजर अमित दोनों दोस्त भी हैं। हत्यारोपी मेरठ में रहकर सारे घटनाक्रम पर नजर रखे हुए था, लेकिन दिल्ली पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आरोपी को दबोच लिया। आरोपी के कमरे से मोबाइल फोन और कुछ सामान बरामद किया गया है, जिसकी पड़ताल जारी है।
नारायणा थाना क्षेत्र में शनिवार को मेजर की पत्नी की हुई हत्या के मामले की जांच में पुलिस को पता चला है कि आरोपित मेजर निखिल हांडा और शैलजा द्विवेदी ने जनवरी से घटना के पहले तक एक-दूसरे को 3300 कॉल-मैसेज किए थे।
पुलिस के अनुसार, आरोपित की गिरफ्तारी में दिल्ली कैंट मेट्रो स्टेशन से मिली सीसीटीवी फुटेज व शैलजा के मोबाइल की कॉल डिटेल ने अहम भूमिका निभाई। 
पुलिस ने जब शैलजा के पति से दूसरे नंबर के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि यह मोबाइल नंबर मेजर निखिल का है। इसके बाद पुलिस ने उसके नंबर के बारे में जानकारी जुटानी शुरू कर दी।
सर्विलांस के जरिये पुलिस को आरोपित की लोकेशन का भी पता चल गया, लेकिन वह बार-बार अपना मोबाइल नंबर बदल रहा था। इसके बाद पुलिस की छह टीमें आरोपित की लोकेशन को ट्रेस करने लगीं। 
टीम में स्पेशल स्टाफ के इंस्पेक्टर जय प्रकाश, कीर्ति नगर के एसएचओ अनिल शर्मा सहित कई अधिकारी शामिल थे। इस बीच टीम को सूचना मिली कि मेरठ स्थित दौराला टोल टैक्स के पास सफेद रंग की होंडा सिटी कार देखी गई है। इसके बाद टीम ने मेरठ में जाल बिछाया।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment