.....

पकौड़े बेचना शर्म की बात नहीं, ये बेरोजगारी से बेहतर : अमित शाह

नई दिल्ली : राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा करते हुए बीजेपी अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद अमित शाह ने कहा कि आजादी के बाद 70 सालों में 55 साल सिर्फ एक ही परिवार का शासन रहा। 

उन्होंने मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि पिछले साढ़े तीन साल में सरकार अंत्योदय के सिद्धांत पर चली। शाह ने कहा, जो 60 साल में नहीं हुआ वो अब हो रहा है। जन धन योजना के तहत 31 करोड़ लोगों के खाते खोले गए।

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी ने जीएसटी का कांग्रेस जैसा विरोध कभी नहीं किया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार द्वारा किए जा रहे टैक्स सुधारों से अर्थव्यवस्था और मजबूत होगी। 

सरकार ने जो यह टैक्स लिया, उसका पैसा देश और लोगों के हित में खर्च होता है। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा था, वन रैंक वन पेंशन का। सरकार ने सबसे पहले इसे लागू किया।

उन्‍होंने कहा कि केंद्र की तत्कालीन सरकार ने केंद्र और राज्य के संबंधों का ध्यान नहीं रखा। आपने वादे को पूरा नहीं किया। राज्यों को हो रहे घाटे को पूरा नहीं किया। वर्तमान की एनडीए सरकार ने यह घाटा पूरा किया और राज्यों की शंकाओं का समाधान किया।

अमित शाह ने कहा कि मैं गरीब के घर में पैदा नहीं हुआ, लेकिन मैंने गरीबी देखी है। उन्होंने कहा कि सरकार ने करोड़ों मांओं को धुएं से आजादी दिलाई।

 उन्होंने कहा कि शौचालय का अभियान चलाया गया। इसे स्वच्छता से जोड़ा गया। उन्होंने कहा कि लुटियन जोन में रहने वालों को इसके बारे में ज्यादा पता नहीं चलता, लेकिन गांव में लोग इस समस्या को समझते हैं।

शाह ने कहा कि इस सरकार ने ऐतिहासिक काम किए हैं। अमित शाह ने एनडीए सरकार की उपलब्धि गिनाते हुए कहा कि इलाज के लिए जरूरी सामान की कीमतें घटाई गई हैं। उन्होंने स्टेंट का उदाहरण दिया.

 उन्होंने पीएम की नई स्वास्थ्य लाभ की योजना का जिक्र कर कहा कि ऐसी योजना पूरी दुनिया में नहीं है। उन्होंने कहा कि देश में कृषि पर 70 प्रतिशत आबादी निर्भर है। इस सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए मजबूत कदम उठाए हैं।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment