चीन को भारत का जवाब, अजहर को आतंकी न मानने से आतंक के खिलाफ संकल्प पर असर नहीं

नई दिल्ली : भारत ने शुक्रवार कहा कि चीन की ओर से पाकिस्तान स्थित जेईएम प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र वैश्विक आतंकी की सूची में शामिल करने का मार्ग लगातार अवरूद्ध करने से वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के संकल्प से नहीं डिगेगा. 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि मैं समझता हूं कि किसी देश के आमसहमति को अवरूद्ध करने के निर्णय को आतंकवाद के खिलाफ हमारे प्रयासों के अंत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए.
महत्वपूर्ण यह है कि यह किसी भी तरह से आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई की हमारी प्रतिबद्धता से हमें दूर नहीं करता है. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि भारत समान विचार वाले देशों के साथ मिलकर आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को जारी रखेगा.
चीन के निर्णय का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यह आतंकवाद के खिलाफ हमारे संकल्प को प्रभावित नहीं करेगा.
उल्लेखनीय है कि कल चीन ने पाकिस्तान आधारित जैश ए मोहम्मद (जेईएम) प्रमुख और पठानकोट आतंकी हमले के साजिशकर्ता मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने की भारत, अमेरिका और अन्य देशों की कोशिश में चौथी बार अवरोध पैदा किया था और कहा था कि चयन समिति के सदस्यों में इस बाबत कोई आमराय नहीं बनी है.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment