ब्रह्मोस मिसाइल को लेकर भारत के इस कदम से तन जाएंगी चीन की भौहैं

नई दिल्ली:  भारत के सिक्किम के करीब भूटान के डोकलाम में भारतीय सैनिक और चीनी सैनिक पिछले महीनों से भी ज्यादा वक्त से नॉन कॉम्बैटिव मोड में आमने सामने डटे हुए हैं.

 ऐसे में दोनों देशों के बीच तनाव लगातार चला आ रहा है. ऐसे में रिपोर्टों के अनुसार वीयतनाम ने भारत से ब्रह्मोस मिसाइल खरीदी हैं. 

यह सुपरसोनिक मिसाइल एंटी शिप क्रूज मिसाइल है और अपनी तरह के वेराइटी में यह काफी घातक मानी जाती है. 

इस मिसाइल बिक्री के बारे में भारत की ओर से कोई भी टिप्पणी नहीं की गई है. यह भी अभी साफ नहीं हो पाया है कि आखिर कितनी मिसाइल बेची गई है और कितने रुपयों का सौदा हुआ है.

वीयतनाम के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ली थी हू हैंग ने कहा कि यह रक्षा खरीद वीयतनाम की शांति नीति और आत्मसुरक्षा के लिए है और यह राष्ट्रहित में उठाया गया सामान्य कदम है.

 साथ ही उन्होंने कहा कि यह दोनों देशों में सुरक्षा की दृष्टि से किए गए समझौते और रीजन में शांति बनाए रखने के लिए उठाया गया कदम है. 
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment