गडकरी ने कहा - BJP और शिवसेना के पास दोस्ती के सिवा कोई रास्ता नहीं

महाराष्ट्र निकाय चुनाव के नतीजे गुरुवार को घोषित हो चुके हैं। चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत हासिल नहीं हुई है। हालांकि भाजपा को इस चुनाव में बढ़त अवश्य मिली है। 

नतीजे आने के बाद शुक्रवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी ने इस मामले में एक बड़ बयान दिया है।

 गडकरी ने कहा कि बीएमसी चुनाव को लेकर भाजपा और शिवसेना को साथ आना पड़ेगा। दोनों पार्टियों के पास इसके अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है।

 गौरतलब है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने गुरुवार को इस बाबत पुछे गए सवाल को टाल दिया था। लेकिन उन्होंने शिवसेना की मंशा साफ जाहिर कर दी। 

उद्धव ने कहा कि मुंबई का मेयर ही नहीं बल्कि महाराष्ट्र का अगला मुख्यमंत्री भी शिवसेना का होगा। 

एक मराठी चैनल को दिए इंटरव्यू में गडकरी ने कहा कि आखिरी फैसला देवेंद्र फड़णवीस और उद्धव ठाकरे को लेना है।

लेकिन हालात ऐसे है कि दोनों नेताओं के पास साथ आने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है। दोनों ही नेता समझदार हैं और मुझे उम्मीद है कि वह फैसला लेने में भी समझदारी दिखायेंगे। 

गडकरी ने यह भी कहा कि शिवसेना को उनके मुख्यपत्र सामना में प्रधानमंत्री मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के ऊपर टिप्पणी करना बंद करना होगा। यदि वह ऐसे ही टिप्पणी करते रहें तो दोस्ती कैसे चल सकती है।

 गडकरी ने कहा कि मेयर को लेकर दोनों पार्टियां बातचीत करके कोई हल निकाल सकती हैं। दोनों पार्टियों में अभी भले ही मतभेद हो लेकिन दोनों की विचारधारा एक जैसी ही है। 
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment