पेट्रोल पंपों पर आज आधी रात से कुछ बैंकों के कार्ड नहीं स्वीकार किए जाएंगे

बेंगलुरु : कार्ड के जरिये भुगतान पर एक प्रतिशत शुल्क और उस पर कर लगाने के बैंकों के निर्णय के विरोध में पूरे देश के पेट्रोल पंप परिचालकों ने आज आधी रात से कुछ बैंकों के डेबिट या क्रेडिट कार्ड के जरिये भुगतान स्वीकार नहीं करने का फैसला किया है.

पेट्रोल पंप डीलरों के इस निर्णय से नकदी की कमी से जूझ रहे लोगों की मुसीबत बढ़ने वाली है. इतना ही नहीं सरकार की कैशलेस स्कीम को भी धक्का पहुंचेगा.

ऑल इंडिया पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखकर कहा है कि एचडीएफसी और अन्य बैंक अतिरिक्त शुल्क वसूल रहे हैं. इस शुल्क को ग्राहकों से वसूलने की कोई बात नहीं है. लिहाजा डीलरों को वित्तीय नुकसान झेलना होगा.

पेट्रोल पंपों को बैंकों से सूचना मिली है कि नौ जनवरी 2017 से सभी क्रेडिट कार्ड से किए जाने वाले ट्रांजेक्शन पर 1 फीसदी और सभी डेबिट कार्ड से किए जाने वाले ट्रांजेक्शन पर 0.25 से 1 फीसदी तक का शुल्क वसूल जाएगा.

 बैंकों ने इस संबंध में 16 दिसंबर को आरबीआई द्वारा जारी किए गए एक सर्कुलर का हवाला दिया है जिसमें अतिरिक्त शुल्क लगाने की बात कही गई है.

पत्र में बैंकों के साथ कार्ड ट्रांजेक्शन के मसले पर होने वाले अन्य विवादों पर भी जोर दिया गया है. पत्र में शिकायत की गई है कि बैंक पेट्रोल पंपों का जमा पैसा भुगतान करने में भी विलम्ब कर रहे हैं और हमें नुकसान हो रहा है.


गौरतलब है कि 8 नवंबर को मोदी सरकार द्वारा नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद से पेट्रोल पंपों पर कैशलेस ट्रांजेक्शन बढ़ गया है. सरकार नकद रहित भुगतान को बढ़ावा दे रही है. 

यहां तक कि उस दौरान सरकार ने बैकों को क्रेडिट कार्ड के ट्रांजेक्शन पर 2% का शुल्क नहीं लेने का आदेश दिया था.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment