CM शिवराज सिंह ने किया हमीदिया अस्पताल का औचक दौरा, गंदगी देख हुए खफा, अपर मुख्य सचिव और डीन को हटाया

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज हमीदिया चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल में आउट डोर मरीजों के पंजीयन, औषधि वितरण और उपचार आदि व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इमरजेंसी वार्ड में जाकर मरीजों और उनके परिजनों से चर्चा की।
उन्होंने व्यवस्थाएं बेहतर नहीं होने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा प्रभांशु कमल के स्थान पर प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य गौरी सिंह को प्रभार देने, मनीष रस्तोगी को कमिश्नर चिकित्सा शिक्षा पदस्थ करने और डीन मेडिकल कालेज डॉ.उल्का श्रीवास्तव को हटाने के निर्देश दिये।
 गंदगी देखकर गहरा रोष व्यक्त करते हुए सफाई एजेंसी को तत्काल प्रभाव से निरस्त करने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री ने चिकित्सालय की व्यवस्थाओं और संसाधनों को अधिक बेहतर बनाने के लिये अस्पताल की प्रशासकीय व्यवस्थाओं में आमूल-चूल परिवर्तन की जरूरत बताई ताकि मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं मिल सके एवं उन्हें किसी तरह की असुविधा न हो।
उन्होंने संभाग आयुक्त, कलेक्टर भोपाल को निर्देशित किया कि अस्पताल की संचालन व्यवस्थाओं का गहराई से अध्ययन करे। रोगियों से चर्चा कर उनकी आवश्यकताओं और अपेक्षाओं की जानकारी ले। 
ऐसे रोगी जिनके उपचार की पर्याप्त व्यवस्थाएं चिकित्सालय मे नहीं है, उनका विशेषज्ञों से उपचार करवाये।
चौहान निवास से स्टेट हैंगर के लिये जाते समय अचानक हमीदिया अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होंने निरीक्षण के दौरान आउट डोर पेशेंट पंजीयन की कतार में खड़ी महिलाओं से चर्चा की। नि:शुल्क औषधि वितरण काउंटर और कक्ष में गये।
 औषधि काउंटर से वितरित की जा रही दवाइयों और उनकी उपलब्धता के बारे में जानकारी ली। उन्होंने इमरजेंसी वार्ड के शौचालय का भी निरीक्षण किया जहां गंदगी पायी जाने पर सफाई ठेका निरस्त करने के निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री इमरजेंसी वार्ड में भी गये। भर्ती रोगी से चर्चा कर अस्पताल में मिल रही दवाओं की जानकारी प्राप्त की।
 उन्होंने किडनी रोगी का नि:शुल्क इलाज करवाने के लिये चिकित्सक को निर्देशित किया। ड्यूटी पर तैनात जूनियर डाक्टरों से भी व्यवस्था की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि चिकित्सालय के डाक्टरों से वे अलग से चर्चा करेंगे।
राज्य शासन ने प्रभांशु कमल को मंत्रालय में विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी बनाया है। प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास को वर्तमान कर्त्तव्यों के साथ प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।
 प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम एवं पदेन सचिव लोक निर्माण तथा संचालक आर.सी.व्ही.पी नरोन्हा मनीष रस्तोगी को अपने वर्तमान दायित्वों के साथ आयुक्त चिकित्सा शिक्षा का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment