कालेधन के खिलाफ जंग आगे भी जारी रहेगी, अगली कार्रवाई बेनामी संपत्ति रखने वालों पर होगी : PM मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने गोवा में मोपा ग्रीनफील्‍ड एयरपोर्ट का शिलान्‍यास किया। इस दौरान उन्होंने कालेधन को लेकर और सख्ती की बात कही।

  मोदी ने रविवार को कहा कि कालेधन के खिलाफ जारी उनकी जंग आगे भी जारी रहेगी और अगला निशाना बेनामी संपत्ति होगी। 

देश में 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने की घोषणा के बाद पहली बार वह देश में जनता को संबोधित कर रहे थे।

 लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने नोटबंदी आखिरी कार्रवाई नहीं है। न ही यह अचानक लिया गया फैसला है, बल्कि इसकी तैयारी करीब दस महीने से गोपनीय रूप से चल रही थी। 

उन्होंने कहा, दिल्ली में बैठा नौकरशाह की गोवा में बेनामी फ्लैट है। ऐसी बेनामी संपत्ति पर नकेल कसने के लिए सरकार ने संसद से बेनामी लेनदेन (निषेध)संशोधन कानून 2016 इस साल मानसून से पारित कराया। 

अगस्त में सरकार ने इसे अधिसूचित कर दिया है। नए कानून के तहत सात साल की सजा के साथ बेनामी संपत्ति को जब्त करने का प्रावधान किया गया है।

पीएम मोदी ने कहा, जनता को यह जानकर हैरानी होगी कि केंद्र सरकार ने जवाहरात व्यापारियों के लिए दो लाख से ज्यादा का सोना बेचने पर पैन कार्ड मांगने के नियम को जरूरी बनाया था तो आधे से ज्यादा सांसदों ने उनसे संपर्क कर इसमें राहत की मांग की थी।

 कुछ ने तो यह बात लिखित में दी थी। जिस दिन मैं उनके पत्रों को सार्वजनिक कर दूंगा, वे अपने-अपने क्षेत्रों में जाने लायक नहीं रहेंगे।

 मोदी ने कहा कि मैंने कैबिनेट की पहली मीटिंग में कह दिया था कि कालेधन के खिलाफ कार्रवाई करूंगा। इतना ही उन्होंने कहा कि मैंने देश की सेवा के लिए अपना घर-परिवार सबकुछ त्याग दिया। हालांकि ये बाते कहते हुए पीएम मोदी भावुक भी हो गए।

मैंने सिर्फ देश से 50 दिन मांगे हैं। अगर 30 दिसंबर के बाद कोई कमी रह जाती है तो देश जिस चौराहे पर और जैसे सजा देगा मैं भुगतने को तैयार हूं। 

35 से कम उम्र के देश के 65% जवान जिनका भविष्य दांव पर है। जिनको राजनीति करनी है वो करें पर मुझे उनके बारे में सोचना है। यह मुद्दा मेरे अहंकार का नहीं है।

पीएम मोदी ने कालेधन के खिलाफ अपनी आवाज को और बुलंद करते हुए कहा कि पहले की सरकारें इस काम को टालती रहीं पर हमने इसे किया। मैंने कालेधन की जांच के लिए एसाआईटी बनाई।

आपने कहा था कालेधन पर कार्रवाई करो, मैंने किया। आपको भी पता था कि इस काम में थोड़ी दिक्कत होगी, पहले की सरकारें इसे टाल रहीं थी पर मैंने किया। कालेधन पर हमने देशों से समझौता किया। अब विदेश पैसा जाते ही तुरंत पता चलेगा।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment